पीएस खाद्य ने कहा- सभी मीलें चालू कराओ, मिलर बोले, प्रोत्साहन राशि बढ़ाई जाए

जिले के दागी मिलरो से मिलिंग नहीं कराने की तैयारी में नागरिक आपूर्ति निगम

By: Rajesh Patel

Updated: 16 Jan 2021, 09:48 AM IST

रीवा. पीएस खाद्य फैज अहमद किदवई कलेक्टर, कमिश्नर के साथ खरीद केन्द्र व चावल की गुणवत्ता को परखा। इसके बाद पीएस सार्किट हाउस में नागरिक आपूर्ति निगम अधिकारियों व मिलरो के साथ मंथन किया। पीएस मिलिंग और रखरखाव की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने नान प्रबंधक से पूछा कि कितने मिलर हैं।
प्रबंधक ने जवाब दिया 31 में 18 चालू
प्रबंधक ने जवाब दिया कि 31 मिल हैं 18 चालू हैं। इस दौरान मिल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने पीएस के समक्ष मांग रखते हुए कहा कि दस साल मिलिंग और परिवहन भाड़ा नहीं बढ़ाया गया। धान मिलिंग में 67 फीसदी चावल लिया जा रहा है। जबकि 60 फीसदी ही चावल निकल रहा है। मिलरो ने तर्क दिया कि यूपी में 64 प्रतिशत लिया जा रहा है। पीएस ने मिलरो की समस्याओं का भी आश्वासन दिया है।
33 फीसदी चालू नहीं हो सकी मीलिंग
शासन की गाइड लाइन है कि उपार्जन के दौरान दिसंबर से कुल खरीद का 33 प्रतिशत धान की मिलिंग होना था। लेकिन, जिले में तौल पूरी होने को है। बावजूद अभी तक नई धान की मिलिंग ही चालू नहीं हो सकी है। जिम्मेदारों की मनमानी के चलते अभी बीते सीजन की पुरानी धान की मिलिंग पूरी नहीं हो सकी है। मामले में पीएस ने नागरिक आपूर्ति निगम अधिकारियों की नकेल कसी है। इस दौरान मिलर संघ के अध्यक्ष समेत अनिल बुधवानी, महेन्द्र शुक्ला आदि रहे।
दागी मिलरो से मिलिंग नहीं कराएगा नान
पीएस गुरुवार को निरीक्षण के बाद सर्किट हाउस में रुके। शुक्रवार की सुबह आठ बजे चले गए। पीएस ने निर्देश दिया है कि दागी मिलरो को चिह्ंित किया जाए। ऐसे मिलरो से मिलिंग कराने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी। नागरिक आपूर्ति निगम इस बार दागी मिलरो से मिलिंग नहीं कराने की तैयारी में है।

Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned