चाय की चुस्की के बीच मेडिकल छात्रों की रैंगग हुई जानलेवा, आक्रोशित होकर डीन कार्यालय को घेरा

चाय की चुस्की के बीच मेडिकल छात्रों की रैंगग हुई जानलेवा, आक्रोशित होकर डीन कार्यालय को घेरा
Ragging at Shyam Shah Medical College Rewa

Balmukund Dwivedi | Publish: Jul, 12 2019 01:54:24 AM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

श्यामशाह मेडिकल कॉलेज में हॉस्टल और बाहर रहने वाले छात्रों में विवाद, पीटीएस चौराहे पर मेडिकल छात्रों में मारपीट, डीन कार्यालय के सामने प्रदर्शन

रीवा. श्यामशाह मेडिकल कॉलेज के यूजी छात्रों के बीच मारपीट हो गई। एक छात्र गंभीर रूप से घायल है। गुरुवार दोपहर घायल छात्र के समर्थन में सैकड़ों छात्रों ने डीन कार्यालय के सामने धरना दिया। छात्रों ने सीनियर छात्रों पर मारपीट का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की। घटना दो दिन पहले पीटीएस चौराहे की है। चाय पीने के दौरान छात्रों के दो गुटों में जमकर मारपीट हुई थी। जिसमें छात्र प्रांशू सिंह गंभीर रूप से घायल है। बताया गया कि 9 जुलाई की शाम सात बजे मेडिकल कॉलेज के 2016 और 18 बैच के छात्र भरतराम, अमित धाकड़, हर्षित कराड़े, धर्मपाल सिंह, शशांक पांडेय, विकास सिसोदिया के साथ पीटीएस चौराहे पर चाय पीने गए थे। इस बीच हॉस्टल के दर्जनों छात्र आए और प्रांशू की पिटाई करने लगे। जब तक वहां पर बैठे छात्र कुछ समझ बाते कि मारपीट में शामिल छात्रों ने प्रांशू की लात-घूसे, मुक्के से पिटाई कर दी। प्राश्ंाू को गहरी चोटें आई हैं। मारपीट में घायल प्राशू सिंह चौहान को संजय गांधी अस्पताल के सर्जरी वार्ड में भर्ती कराया गया है। बुधवार को छात्रों ने इसकी जानकारी चीफ वार्डन डॉ. मनोज इंदुलकर को दी। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई।

गुस्साए छात्र डीन कार्यालय के सामने धरने पर बैठे
इससे गुस्साए छात्र गुरुवार को डीन डॉ. पीसी द्विवेदी से मिलने पहुंचे। लेकिन डीन आयुष्मान की समीक्षा बैठक में होने के कारण नहीं मिल सके। इससे गुस्साए छात्र डीन कार्यालय के सामने ही धरने पर बैठ गए। इस दौरान मेडिकल कॉलेज के शिक्षक छात्रों के पास पहुंचे तो छात्रों ने सीनियर छात्रों पर मारपीट कराने का आरोप लगाया। घंटेभर छात्र धरने पर बैठे रहे। पीडि़त के समर्थन में आए छात्रों यह कहकर धरना खत्म किया कि कॉलेज स्तर पर डीन सीनियर छात्रों के खिलाफ जल्द कार्रवाई करें। कार्रवाई नहीं होने पर एफआइआर दर्ज कराने के लिए तहरीर दी जाएगी।

आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने डीन को सौंपा ज्ञापन
पीडि़त के समर्थन में डीन कार्यालय पहुंचे छात्रों ने आरोपी छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। मामले में पीडि़त छात्र के पिता तेजभान सिंह ने डीन को आवेदन देकर बेटे की पिटाई करने वाले छात्रों पर आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने की मांग उठाई है। आवेदन में 2016 बैच के छात्र विकास ङ्क्षसह, 2017 के छात्र क्षितिज ङ्क्षसह सहित अब्दुल अहमद फिरोजी, पृथ्वीदांगी, किरोन डीशिरा, सुजस मोदी, भूपेन्द्र सिंह, विनोद मोवेल, शुभम पटेल, अविनाश मीना, पराग सोनकर, द्रोण ङ्क्षसह, डुर्गोग पंगम, तनमय मालवीय, अरुण कुमार गौतम आदि के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज करने की मांग उठाई है।

बीच बचाव में आए छात्र भी चोटिल
पीटीएस चौराहे पर छात्रों के दो गुटों में मारपीट के दौरान बीच बचाव कर रहे कई अन्य छात्र भी चोटिल हो गए हैं। गंभीर रूप से घायल प्रांशू का ही मामला प्रकाश में आया है। साथ में मौजूद दोनों पक्ष के छात्र चोटिल हुए हैं। गंभीरूप से घायल का मामला तूल पकडऩे लगा है।

रैगिंग की आशंका
छात्रों के प्रदर्शन के दौरान कुछ छात्रों ने रैगिंग की भी आशंका जताई है। कई छात्रों ने कहा, आए दिन 2016 बैच के छात्र जूनिसर्य के साथ अभद्र व्यवहार करते हैं। यह पहला मामला नहीं है। हालांकि कॉलेज प्रबंधन का कहना है कि रैगिंग की शिकायत नहीं मिली है। यह कालेज के बाहर का आपसी झगड़ा है।

मामला हमारे संज्ञान में नहीं
डॉ. पीसी द्विवेदी, डीन, मेडिकल कालेज ने बताया कि मामला हमारे संज्ञान में नहीं आया है, डॉ. मनोज इंदुलकर चीफ वार्डन हैं। अगर यह मामला मेरे पास आता है तो जांच कराएंगे। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned