लॉकडाउन में जानवरों और पक्षियों को सुकून, सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर ले रहे आनंद

- आम पर्यटकों के लिए तीन मई तक के लिए बंद है चिडिय़ाघर

By: Mrigendra Singh

Published: 19 Apr 2020, 11:10 AM IST


रीवा। महाराजा मार्तण्ड सिंह जूदेव चिडिय़ाघर मुकुंदपुर भी इनदिनों चिडिय़ों के लिए बसेरा बनता जा रहा है। यहां पर तरह-तरह की चिडिय़ां दिखाई दे रही हंै। आम पर्यटकों के लिए लॉकडाउन की वजह से यह चिडिय़ाघर आगामी तीन मई तक के लिए बंद कर दिया गया है। इस वजह से जिस परिसर में दिन भर चहल-पहल रहती थी, वहां पर सन्नाटा छाया हुआ है। परिसर में जंगली पेड़ बहुतायत में हैं, साथ ही कई बड़े नाले भी निकलते हैं। जहां पर हर समय पानी भरा रहता है। यहां पर चिडिय़ां बाहर से भी आ रही हंै, गर्मी की वजह से यहां पर प्राकृतिक माहौल मिल रहा है और पानी भी पर्याप्त मिल रहा है। वहीं चिडिय़ाघर के भीतर जानवरों को भी जंगल जैसा आनंद मिल रहा है। पर्यटकों के चलते जानवर किसी एक जगह शांत रूप से नहीं बैठ पाते थे, शोरशराबे की वजह से उन्हें अपना स्थान बाड़ों में बदलना पड़ता था लेकिन इस समय वह शांति से घंटों बैठे रहते हैं। वहीं मस्ती भी करते रहते हैं।
चिडिय़ाघर के संचालक संजय रायखेड़े बताते हैं कि जानवरों के बाड़े के पास इस समय केवल केयर टेकर और चिकित्सक ही पहुंच रहे हैं। इस कारण उन्हें किसी तरह की बाधा महसूस नहीं हो रही है। बाघ भी अपनी मर्जी के अनुसार दहाड़ मार रहे हैं, परिसर में सन्नाटे की वजह से इनकी दहाड़ भी दूर तक सुनाई दे रही है। वहीं इस समय अलग-अलग प्रजाति की चिडिय़ा भी पहुंच रही हैं और परिसर में जहां लोगों का आना जाना होता था, वहां पर ही बड़ी संख्या में ये दिखाई दे रही हैं।

---

rewa
Patrika Rewa IMAGE CREDIT: patrika


सुधर रही प्रकृति.....
लॉकडाउन के चलते शहर के पार्कों में भी पहुंचने लगे पक्षी
रीवा। लॉकडाउन के चलते लोग अपने घरों के भीतर हैं। सड़कों पर सन्नाटा छाया रहता है। इस सन्नाटे के बीच प्रकृतिक वातावरण में तेजी के साथ सुधार आ रहा है। वाहन नहीं चलने से सड़कों से उठने वाले धूल-धुएं से राहत है। आसपास साफ नजर आ रहा है। शहर के पार्कों के साथ ही अन्य पेड़ों में चिडिय़ों की चहचहाहट अब हर जगह सुनाई दे रही है। खासतौर पर सुबह और सायं के वक्त बड़ी संख्या में पार्कों में चिडिय़ों के विचरण करने का नजारा दिख रहा है। जैव विविधता की दृष्टि से यह लॉकडाउन सुखद साबित हो रहा है। शुद्ध हवा के लिए लोग अब तक दूर के पार्कों एवं खुले स्थान पर सुबह-शाम जाते रहे हैं लेकिन अब उनके मोहल्लों में ही खुली हवा मिलने लगी है। लॉकडाउन के बीच चिडिय़ों का आकर्षण लोगों को पार्कों तक पहुंचने के लिए आकर्षित कर रहा है। यही वजह है कि कई जगह पार्कों में लोग चिडिय़ों के साथ फोटो भी खींच रहे हैं। ये फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर लॉकडाउन की यादों को आगे भी बनाए रखने का प्रयास कर रहे हैं। नेहरू नगर निगम निवासी डॉ. नरेन्द्र सिंह बताते हैं कि मोहल्ले में इस तरह का शांत माहौल पहली बार है, जिसकी वजह से चिडिय़ों को भी प्राकृतिक माहौल मिल रहा है। यही वजह है कि वह घरों के पास पेड़ों पर बड़ी संख्या में पहुंच रही हैं।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned