जले ट्रांसफार्मर बदलो, सिंचाई के लिए दस घंटे सप्लाई दो

जले ट्रांसफार्मर बदलो, सिंचाई के लिए दस घंटे सप्लाई दो

रीवा। जिला स्तरीय विद्युत सलाहकार समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता समिति के सभापति मनगवां विधायक पंचूलाल प्रजापति ने की। बैठक में विधायकों ने बढ़े बिजली बिल को लेकर अफसरों को घेरा।

इस दौरान समिति के सदस्यों ने सौभाग्य योजना सहित बदले गई फेल ट्रांसफार्मर और खड़े किए गए खंभे कनेक्शन आदि की जानकारी मांगी है। विभागीय अधिकारियों ने जानकारी उपलब्ध कराने के लिए एक माह की मोहलत मांगी है।
बैठक शुरू होते ही सदस्यों ने पिछली बैठक का पालन प्रतिवेदन और समितियों के दायित्व के दस्तावेज मांगा तो अफसर एक दूसरे मुह ताकने लगे।

सदस्यों ने कहा, बैठक बुलाकर खुद हाथ झुलाते चले आए हैं। प्रभारी कलेक्टर अर्पित वर्मा ने हस्तक्षेप कर अधिकारियों को प्वाइंट नोट करने का आदेश दिए। अगली बैठक में सभी बिंदुओं की जानकारी लेकर आने का निर्देश दिए। समिति के अध्यक्ष पंचूलाल प्रजापति ने मुद्दा उठाया कि जिन गरीबों का बिल 200 रुपए आना चाहिए उनके घरों में चालीस हजार रुपए का बिल भेजा जा रहा है।

सभी विधायकों ने संयुक्तरूप से बढ़े बिजली बिल को लेकर अफसरों को घेरा। कई विधायक प्रतिनिधियों ने बिल लहराते हुए कहा कि एक-एक गरीब के घर में चार-चार बिल भेज दिया गया है। मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल ने सौभाग्य योजना का मुद्दा उठाया।

उन्होंने कहा कि ११ अक्टूबर २०१७ को सौभाग्य योजना चालू हुई है। जिसका कट-ऑफ अप्रैल २०१९ था। योजना के तहत हर गरीब के घर में कनेक्शन लगाए जाने के साथ ही केबिल का पैसा योजना के तहत दिया जाना था। लेकिन, बिजली अधिकारियों ने कहीं भी केबिल नहीं लगाए।

केबिल तक का पैसा फील्ड के अधिकारियों ने वसूल किया। विधायकों ने योजना की विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराने का प्रस्ताव लाया है। जानकारी देने बिजली अधिकारियों ने एक माह की मोहलत मांगी है। इस दौरान बिजली अधिकारियों ने कहा आप बताइए कहां खंभे नहीं खड़े किए गए हैं, जवाब में विधायकों ने कहा पहले आप बताओ कहां-कहां खंभे खड़े किए हो, जिसका भौतिक सत्यापन कराया जाएगा।

अधिकारियों ने जैसे ही जले ट्रांसफार्मर का तीन दिन के भीतर बदले जाने का नियम बताया तो मऊगंज विधायक ने कहा कि भुआरी, पटेहरा सहित 15 गांव में ट्रांसफार्मर एक-एक माह से जले हैं। आज तक नहीं बदले गए। इस बीच विधायकों ने यह भी सवाल उठाए कि विधानसभा स्तर पर फील्ड के अधिकारी भी बैठक में शामिल हों।

इस दौरान सिरमौर विधायक प्रतिनिधि ने प्रस्ताव लाया कि फील्ड के अधिकारी विधायकों का सुबह १० बजे से लेकर शाम ५ बजे तक फोन उठाएं और समस्याओं को तत्काल निर्धारिण किया जाए। बैठक में देवतालाब विधायक प्रतिनिधि अवधेश तिवारी, बिजली विभाग के अधीक्षण अभियंता सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

जिले के त्योंथर विधायक श्यामलाल द्विवेदी ने त्योंथर विधानसभा क्षेत्र में 30-40 किमी दूर तक खंभे के सहारे बिजली सप्लाई की व्यवस्था को बताया और जर्जर हो चुके तार को बदलने का प्रस्ताव रखा है। इसके अलावा तार और केबिल बदले जाएं। विधायक ने चौराहा, ककरहा, बरा,ैं पछार और जवा क्षेत्र में छदहना, चंद्रह में उप विद्युत केन्द्र बनाए जाने का प्रस्ताव दिया है।

Bajrangi rathore
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned