कोरोना कर्फ्यू में बाजार बंद लेकिन सड़कों पर बनी रही आवाजाही

- कई जगह बिना काम के भी घूमते नजर आए लोगों को पुलिस ने वापस लौटाया

By: Mrigendra Singh

Updated: 16 Apr 2021, 11:42 AM IST


रीवा। कोरोना कफर््यू के पहले दिन शहर में मिला जुला असर रहा। बाजार तो बंद रहे लेकिन सड़कों पर लोगों की आवाजाही बनी रही। इस कफर््यू में टोटल लॉकडाउन की जगह आवश्यक सेवाओं को बहाल रखने की छूट दी गई है। जिसके चलते अधिकांश जगहों पर ऐसे लोग भी भ्रमण करते देखे गए जिनका कोई विशेष कार्य नहीं था।

कुछ युवक तफरी करते पाए गए जिन्हें पुलिस ने वापस भी लौटाने का कार्य किया। शहर के प्रमुख हिस्सों में बाजार बंद रहे। कफर््यू के प्रतिबंध से जिन व्यवसायों को छूट दी गई है, उनकी दुकानें जरूर खुली रहीं। सार्वजनिक परिवहन को इससे मुक्त रखा गया है लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली कई बसें नहीं आईं, जिनकी वजह से अन्य दिनों की तुलना में बस स्टैंड में भीड़ कम नजर आई। यात्री बसों को नहीं रोका गया। इसके साथ ही शहर में हजारों की संख्या में चलने वाले आटो भी कम दिखे। दोपहर के बाद इनकी संख्या में कुछ वृद्धि जरूर हुई लेकिन सवारियों की कमी के कारण खाली ही सड़क पर दौड़ते रहे। सिविल लाइन थाने के पास आटो में अधिक सवारियां भरने की जांच भी की गई, जिसमें कई आटो चालकों का चालान काटा गया। शहर के प्रमुख चौराहों में पुलिस की तैनाती से माहौल शांतिपूर्ण रहा। आवासीय कालोनियों के आसपास लोगों की चहल-कदमी अधिक देखी गई। कलेक्टर ने कहा है कि लोग घरों से विशेष कार्य होने पर ही निकलें। यदि लोग इसी तरह बाहर निकलते रहे और कोरोना संक्रमण बढ़ता रहा तो फिर से लॉकडाउन बढ़ाने जैसे कदम उठाए जा सकते हैं।
--
पहले दिन होम डिलेवरी के आर्डर कम आए
नगर निगम ने रोजमर्रा की जरूरतों से जुड़ी सामग्री की होम डिलेवरी के लिए व्यवसाइयों को पास जारी कर रखा है। इनमें सभी का नंबर भी आम लोगों तक नहीं पहुंच पाया है। जितने व्यवसाइयों का नंबर लोगों के पास पहुंचा है, उसमें भी कम संख्या में सामग्री मंगाने के आर्डर किए गए। इस कार्य का सुपरवीजन कर रहे निगम के अधिकारियों ने बताया कि नवरात्र का व्रत होने की वजह से फलों और दूध की मांग अधिक रही। किराने की सामग्री की आंशिक रूप से पहले दिन मांग सामने आई है। वहीं नगर निगम ने व्यवसाइयों को होम डिलेवरी का पास जारी करने के लिए विशेष काउंटर खोला था। जहां पर करीब सैकड़ा भर से अधिक की संख्या में नए पास बनाए गए हैं। अधिकांश व्यवसाइयों ने चार पहिया वाहनों का भी पास बनवाने की मांग की है। इन वाहनों के जरिए वह एक से अधिक लोगों के यहां सामग्री पहुंचा सकेंगे। इस पर नगर निगम ने पुलिस से चर्चा के बाद पास बनाए जाने का आश्वासन दिया है। बताया गया है कि शुक्रवार को भी सुबह नौ बजे से सायं के पांच बजे तक नगर निगम में पास बनाए जाने का कार्य किया जाएगा। इसके लिए विशेष काउंटर खोला गया है। शहर में अधिक से अधिक व्यवसाइयों का पास जारी किया जा रहा है ताकि दस दिनों के कफर््यू में किसी तरह की समस्या लोगों को सामग्री को लेकर नहीं आए।
--
फल-सब्जी के ठेले कम निकले
कोरोना कफर््यू की गाइडलाइन ठीक से नहीं समझ पाने की वजह से फल और सब्जी के ठेला वाले कम संख्या में शहर में निकले। हालांकि एक दिन पहले दोपहर के समय से ही यह जानकारी सामने आ गई थी कि २५ अप्रेल तक रीवा में कोरोना कफर््यू रहेगा। इस वजह से सब्जी मंडी एवं अन्य स्थानों पर लोगों ने फल और सब्जी की खरीदी कर ली थी। यही वजह रही कि एक दिन पहले महंगे दाम पर सब्जियां और फलों की बिक्री की गई थी।
-
वैवाहिक कार्यक्रम वाले परेशान
जिन लोगों के घरों में हाल ही में वैवाहिक कार्यक्रम प्रस्तावित हैं। उनके सामने कई तरह की चुनौतियां सामने आ रहे हैं। जिला प्रशासन से प्रतिबंधों के चलते दोनों पक्षों से केवल ४० लोगों की अनुमति दी है। होटल एवं बारातघरों में पहले से बुकिंग है, वह एडवांस में ली गई राशि को लौटाने के लिए तैयार नहीं हैं। इसी तरह जिन लोगों ने तारीख नजदीक आने पर खरीदी की तैयारी की थी, अब बाजार बंद होने से उनके सामने संकट उत्पन्न हो गया है। कई लोग कलेक्टर कार्यालय इसलिए पहुंचे थे कि उन्हें कपड़े एवं अन्य सामग्री की खरीदी करना है इसलिए वह इसमें भी राहत की मांग कर रहे हैं।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned