संबल योजना के 18 हजार हितग्राही 100 रुपए बिजली बिल से बाहर

संबल योजना के 18 हजार हितग्राही 100 रुपए बिजली बिल से बाहर
18 thousand beneficiaries of Sambal Yojana out of Rs 100 electricity bill

Lok Mani Shukla | Updated: 11 Sep 2019, 04:22:33 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

शहर संभाग में संबल योजना के तहत 22 हजार हितग्राहियों की मुश्किलें बढ़ गई है। सरकार की नई योजना के 100 यूनिट तक 100 रुपए का लाभ सिर्फ 4 हजार उपभोक्ताओं को मिल पाएगा। इसके अतिरक्त 18 हजार उपभोक्ता को उनकी खपत के अनुसार अब 6 रुपए प्रतियूनिट की दर से चुकना होगा।

रीवा। शहर संभाग में संबल योजना के तहत 22 हजार हितग्राहियों की मुश्किलें बढ़ गई है। सरकार की नई योजना के 100 यूनिट तक 100 रुपए का लाभ सिर्फ 4 हजार उपभोक्ताओं को मिल पाएगा। इसके अतिरक्त 18 हजार उपभोक्ता को उनकी खपत के अनुसार अब 6 रुपए प्रतियूनिट की दर से चुकना होगा। इसके पहले संबल योजना में इन उपभोक्ताओं 90 रुपए बिजली का बिल जारी हो रहा था। ऐसे में शहरी गरीब उपभोक्ता की मुश्किलें बढ़ जाएगी।

बताया जा रहा है शहर संभाग में 72 हजार उपभोक्तओं में 22 हजार उपभोक्ता संबल योजना में महज 90 से 100 रुपए बिल आ रहा था। जबकि संबल हितग्राहियों के घरों में बिजली की खपत ज्यादा हो रही थी। सरकार की नई योजना के अब 100 यूनिट तक खपत करने वाले उपभोक्ताओं को 100रुपए बिजली का बिल अदा करना होगा। इसके बाद अतिरिक्त यूनिट पर उपभोक्ता की बिजली को बिल देना होगा। वर्तमान में शहरी संंभाग में अंतर्गत ४ हजार उपभोक्ता है जिनकी खपत 100 यूनिट तक है। इसके अतिरिक्त अन्य संबल योजना के उपभोक्ता इससे बाहर रहेंगे।

दो पंखे व दो बल्ब की खपत 120 यूनिट-
बताया जा रहा है शहरी क्षेत्र में उपभोक्ता यदि दो पंखें एवं दो बल्क का प्रयोग 20 घंटे करता है तो उसकी औसत खपत लगभग 120 यूनिट के पार चली जाएगी। माना जा रहा है। इस योजना के तहत जिन उपभोक्तओं को लाभ दिया जा रहा है। उनके यहां इलेक्ट्रॉनिक सामग्री नहीं है। सिर्फ रोशनी के लिए बल्ब व गर्मी से बचने एक या दो पंखा चलाने वाले हितग्राही इसके पात्र होगें।

अचानक रीडिंग देख उपभोक्तओं को आया पसीना-
बताया जा रहा है संबल योजना के अंतर्गत उपभोक्ताओं के बिल फिक्स होने पर पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारी विद्युत रीडिंग नहीं ले रहे थे। योजना बंद होने के बाद जब विद्युत कंपनी ने उपभोक्तओं की रीडिंग खपत के अनुसार जारी किया तो उपभोक्तओं को पसीना आ गया है। अचानक उपभोक्ता को तीन सौ यूनिट तक खपत के बिल जारी हो गए। इसके बाद अब इन उपभोक्ताओं ने हंगामा मचाया तो अब इन उपभोक्ता को किश्तों में भुगतान की सुविधा बनाई गई है।



MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned