मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा-बेटियों के शिक्षा सुधार की रैकिंग में रीवा का देश की लिस्ट में शामिल होना प्रदेश के लिए गौरव की बात

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा-बेटियों के शिक्षा सुधार की रैकिंग में रीवा का देश की लिस्ट में शामिल होना प्रदेश के लिए गौरव की बात
Rewa is included in the country's top-10 district

Rajesh Patel | Updated: 14 Jul 2019, 02:01:10 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में रीवा देश के टॉप-10 जिले में शामिल होने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर जिले के प्रशासनिक अमले को बधाई दी है

 

रीवा. बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में रीवा देश के टॉप-10 जिले में शामिल होने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर जिले के प्रशासनिक अमले को बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियों के शिक्षा स्तर व लिंगानुपात में सुधार के आधार पर अभियान की रैकिंग में वर्ष 2018-19 में 934 के साथ प्रदेश का रीवा जिला देश के टॉप-10 जिलों में शामिल हो गया है। प्रदेश के लिए यह गौरव की बात है। उधर, जिले में भी कांग्रेसियों ने अभियान से जुड़े लोगों की सफलता पर बधाई दी है।

वर्ष 2011 से लेकर अब तक ऐसा बढ़ा लिंगानुपात
बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में रीवा देश के टॉप-10 जिले में शामिल होने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर जिले के प्रशासनिक अमले को बधाई दी है। 2011 की जनगणना के अनुसार रीवा जिले का बाल लिंगानुपात 885 था। बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ योजना अंतर्गत रीवा जिले को 2014-15 में शामिल किया गया था। अप्रैल 2016 तक बढ़कर लिंगानुपात 919 पहुंच गया था। पिछले पांच साल में बेहतर काम करते हुए अब इस समय 2018-19 में जन्म के समय लिंगानुपात बढ़कर 934 हो गया है। यह रीवा के लिए बड़ी उपलब्धि है। बेटे बचाओं बेटी पढ़ाओं योजना में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर चयनित जिलों में रीवा के साथ भिण्ड, मुरौना, ग्वालियर, दतिया और टीकमगढ़ भी शामिल हैं जिनको भी सम्मानित किया जाएगा।

रंग लाई तत्कालीन कलेक्टरों की मुहिम
वर्ष 2016 से लेकर वित्तीय वर्ष 2018-19 में तत्कालीन कलेक्टरों में राहुल जैन और प्रीति मैथिल ने जिले में बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं को लेकर विभिन्न जागरुकता कार्यक्रम किए गए थे। जिसमें कम लिंगानुपात वाले गांवों का चयन कर वहां के घरों में दस्तक, शक्ति चौपाल, नुक्कड़ नाटक, कठपुतली शो जैसे कई कार्यक्रम किए गए। साथ ही ऐसे परिवार जिनमें कक्षा में सर्वोत्तम अंक प्राप्त करने वाली बेटियों को सम्मानित किया गया। साथ ही जिनकी तीन बेटियां थी उन माताओं को भी सम्मानित किया गया। जिसका असर रहा कि रीवा में लिंगानुपात में देश के 10 जिलों में अपना स्थाना बना पाया।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned