रीवा. शहर के रानीगंज में स्थित नगर निगम की दुकानों का लंबे समय से किराया नहीं मिल पा रहा है। इसके लिए कई बार निगम की ओर से प्रयास भी किए गए लेकिन राजनीतिक दबाव की वजह से वसूली का कार्य बीच में ही अधिकारियों को रोकना पड़ता रहा है। नगर निगम के उपायुक्त अरुण मिश्रा अधिकारी, कर्मचारियों को लेकर रानीगंज पहुंचे। जहां पर दुकानदारों को पहले ही किराया जमा कराने के लिए नोटिस जारी की गई थी। उन्होंने दुकानदारों से राशि जमा करने के लिए कहा और चेतावनी भी दी कि यदि राशि जमा नहीं होगी तो दुकान सीज कर दी जाएगी। पहले तो काफी देर तक दुकानदार बहाने बनाते रहे और बाद में फिर समय मांगने लगे। निगम अधिकारियों ने समय नहीं दिया तो कुछ ने विरोध करने का भी प्रयास किया। इस बीच निगम अधिकारियों ने सख्ती दिखाई और दुकानों में तालाबंदी शुरू करा दी। जिसके बाद किराए की राशि जमा कराई गई। बताया गया है कि रानीगंज की इन दुकानों का निर्माण वर्ष 1980 में हुआ था, जिनका आवंटन 1982 में हुआ। इसके बाद से ही कई दुकानदारों ने किराया नहीं जमा कराया था। कई ऐसे भी हैं जो किराया की राशि दे रहे हैं। इस कार्रवाई में नगर निगम के सहायक संपत्तिकर अधिकारी अशोक सिंह, राजस्व निरीक्षक रावेन्द्र सिंह, हेमंत त्रिपाठी, प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी भगीरथ गौर, रावेन्द्र चतुर्वेदी, अरुण शुक्ला, सुखेन्द्र चतुर्वेदी, सुरेन्द्र सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

[MORE_ADVERTISE1][MORE_ADVERTISE2]

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned