रीवा. जिला न्यायालय परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ जिला एवं सत्र न्यायाधीश एके सिंह ने किया। कहा कि लोक अदालत आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य आपसी समझौते एवं सामजंस्य से प्रकरणों का निराकरण करना है। कहा कि समाज को विकसित करने के लिए शिक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण है जब हम शिक्षित होंगे तभी अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होंगे। लोक अदालत में पक्षकारों को समझाने के लिए आपसी सूझबूझ की समझ होनी चाहिए तभी प्रकरणों में समझौते होंगे। लेकिन यह अच्छा माध्यम है, इसका बढ़चढक़र पक्षकरों को लाभ उठाना चाहिए।

इसके पूर्व जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अरूण कुमार सिंह ने एडीआर भवन में दीप प्रज्ज्वलन कर राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ किया। इस अवसर पर कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक आबिद खान, नगर निगम कमिश्नर सभाजीत सिंह यादव, प्रधान न्यायाधीश वाचस्पति मिश्रा, विशेष न्यायाधीश उमेश पांडव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव राघवेन्द्र सिंह, प्रथम अपर जिला न्यायाधीश गिरीश दीक्षित सहित सभी न्यायाधीशगण, अधिवक्ता एवं कर्मचारी उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन तृतीय अपर न्यायाधीश सुधीर सिंह राठौर ने किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned