रीवा. नगर निगम द्वारा संपत्तिकर वसूली के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत भी शहर के कई हिस्सों में दबिश दी गई। जिसके तहत अलग-अलग स्थानों पर बकायादारों के यहां पहुंचकर दुकानों में ताला लगाया गया। इस बीच कई जगह व्यापारियों और नगर निगम के अधिकारियों के बीच कहासुनी भी हुई। नगर निगम के अमले के साथ बड़ी संख्या में कर्मचारी थे, इसलिए व्यापारियों का विरोध अधिक समय तक नहीं चल सका। इस वजह से जिन दुकानों का संपत्तिकर जमा नहीं कराया गया था, उनमें ताले जड़ दिए गए। यह ताले तब तक नहीं खुलेंगे जब तक पूरी राशि बकायादारों द्वारा नहीं जमा की जाती। बीते कई दिनों से लगातार नगर निगम द्वारा दुकानों में तालाबंदी की जा रही है। जिसके चलते अन्य बकायादारों में भी हडक़ंप मचा हुआ है और इसका असर भी है कि लोग स्वयं पहुंचकर राशि जमा कर रहे हैं। तालाबंदी के दौरान दुकानदारों द्वारा विरोध किया जा रहा था। जिसके चलते निगम के कर्मचारियों ने दुकान की सामग्री जो बाहर रखी थी, उसे भीतर रखा और तालाबंदी कराई। एक दुकान पर जब निगम के कर्मचारी सख्ती के साथ पेश आए तो यह कार्रवाई देखकर दूसरे दुकानदारों ने अधिक विरोध नहीं किया।

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned