रीवा. टीआरएस कॉलेज के प्रांगण में खेल एवं युवक कल्याण विभाग द्वारा प्रांतीय ओलंपिक महिला खेल प्रतियोगिता की खिलाड़ी छात्राओं को कमिश्नर रीवा संभाग डॉ अशोक भार्गव के मुख्य आतिथ्य में पुरस्कार वितरित किए गए । इस अवसर पर कमिश्नर ने कहा कि खेल हमारे जीवन का अहम पड़ाव होता है जो जिंदगी की हकीकत से लड़ने की ताकत देता है । किसी भी राष्ट्र की असली दौलत वहां के चरित्रवान नागरिक होते हैं । खेल के मैदान चरित्र का निर्माण करते हैं । खेल के मैदान चरित्र निर्माण की प्रयोगशालाएं हैं । खेल के मैदान में हार - जीत कटु सत्य है , लेकिन कोई भी हार अंतिम हार नहीं होती और कोई भी जीत अंतिम जीत नहीं होती । अपने इरादों को चट्टान की तरह मजबूत रखने से ही चुनौतियों का सामना किया जा सकता है । विपरीत परिस्थितियों में भी संघर्ष करते रहना चाहिए । मध्यप्रदेश के होनहार विद्यार्थियों एवं खिलाड़ियों के विकास के लिए शासन द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं । इसी क्रम में यह संभाग स्तरीय प्रतियोगिता आयोजित की गई है । उन्होंने | कहा कि खेल भावना का सम्मान करते हुए निष्ठा और अनुशासन से अपना लक्ष्य प्राप्त करने की कोशिश करते रहें । कमिश्नर डॉ भार्गव ने छात्राओं को पुरस्कार स्वरूप शील्ड और ट्राफी प्रदान की । कार्यक्रम में एडीशनल एसपी शिवकुमार वर्मा सहित संभागीय खेल एवं युवक कल्याण अधिकारी राजेश शाक्य , कोच , मैनेजर , खिलाड़ी व छात्राएं उपस्थित थीं ।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned