शासकीय दुकान के सेल्समैन ने बेच दिया 11 लाख रुपए के गरीबों का खाद्यान्न, एफआइआर

कनिष्ट आपूर्ति अधिकारी के जांच प्रतिवेदन के आधार पर कलेक्टर ने दिए निर्देश

By: Rajesh Patel

Published: 20 Jan 2021, 09:29 AM IST

रीवा. जिले में खाद्यान्न की कालाबजारी पर लगाम नहीं लग पा रहा है। कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी के जांच प्रतिवेदन पर कलेक्टर ने जनकहाई और सितलहा के विक्रेताओं के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने का आदेश दिया है।
पीओएस मशीन से कम कर दिया खाद्यान्न
जिला आपूर्ति नियंत्रक एमएनएच खान और कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी राजेश पटेल ने जवा ब्लाक के जनकहाई ग्राम पंचातय में राशन दुकान की जांच की। जिसमें विक्रेता के द्वारा अक्टूबर, नंबर और दिसंबर का पीओएस मशीन से उपभोक्ताओं का पर्ची निकाल कर स्टाक बेच लिया गया। स्टाक की जांच के दौरान गेहूं 198 क्विंटल, चावल 81.70 क्विंटल और चना 7.41 क्विंटल समेत नमक का स्टाक कम पाया गया। दुकान की जांच में पाया गया कि पीओएस मशीन में विक्रेता सुशील कुमार पांडेय के द्वारा बायोमैट्रिक से निकाला गया है। उपभोक्ताओं को खाद्यान्न नहीं दिया गया। जिसकी कीमत सात लाख रुपए होती है।
सितलहा का सेल्समैन भी गायब कर दिया खाद्यान्न
मामले में कलेक्टर इलैयाराजा टी ने एफआइआर का निर्देश दिए हैं। इसी तरह जवा ब्लाक के शासकीय उचित मूल्य की दुकान सितलहा में जांच के दौरान पाया गया है कि विक्रेता के द्वारा उपभोक्ताओं का कार्ड व पात्रता पर्ची अपने पास करकर करीब अक्टूबर, नंबर, दिसंबर और जनवरी माह का खाद्यान्न गायब कर दिया है। उपभोक्ताओं को वितरण नहीं किया है। पीओएस मशीन में दर्ज स्टाक कम पाया गया।
बायोमेट्रिक मशीन से निकाल लिया खाद्यान्न
जांच के दौरान मिला कि सुशील कुमार पांडेय ने बायोमेट्रिक से खाद्यान्न निकाल लिया गया है। जांच के दौरान गेहूं 87.19 क्विंटल, चावल 72.40 क्विंटल और चना 5.78 क्विंटल घोषित स्टाक कम पाया गया है। जिसकी कीमत चार लाख रुपए होती है। दोनों उचित मूल्य की दुकानों में कम पाए गए स्टाक की वसूली के साथ ही कलेक्टर ने एफआइआर का निर्देश दिए हैं। इसकी सूचना से विक्रेताओं में हडक़ंम मचा है।
वर्जन...
शिकायत पर जांच की गई। जांच में अनियमितता पाए जाने पर जांच प्रतिवेदन कलेक्टर के समक्ष प्रस्तुत किया गया। कलेक्टर के आदेश पर दोनों दुकानों के मामले में विक्रेता के खिलाफ केस दर्ज कराया जाएगा।
एमएनएच खान, जिला आपूर्ति नियंत्रक

Congress COVID-19
Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned