देखिए संविधान निर्माता की प्रतिमा का यह है हाल...

देखिए संविधान निर्माता की प्रतिमा का यह है हाल...

Mahesh Singh | Publish: Sep, 05 2018 01:09:23 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

खंडित हो गई प्रतिमा, रस्सी से बिजली के खंभे में बांधा,नगर पंचायत त्योंथर का मामला, जिम्मेदार अनजान

रीवा. जिले के त्योंथर नगर पंचायत के वार्ड 7 में संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ. भीमराव अंबेडकर की खंडित व जीर्ण-शीर्ण प्रतिमा बिजली के खंभे से रस्सी से बांधकर बंदी की तरह सार्वजानिक चौराहे में अपमानित हो रही है। इस प्रतिमा की स्थापना यहां नगर पंचायत द्वारा कराई गई थी। संविधान निर्माता की प्रतिमा की यह दुर्दशा उनके ही देश में होगी ऐसा किसी ने सोचा नहीं था। संविधान निर्माता की दुहाई देने वाले बड़बोले नेताओं का पता नहीं है। उनके द्वारा डॉ. अम्बेडकर को वोट बैंक तो माना जाता है लेकिन उनके प्रतिमा तक की सुरक्षा नहीं की जा रही है। वहीं नगर परिषद के जिम्मेदार भी इससे अनजान बने हुए हैं।


बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा की स्थापना रीवा जिले के त्योंथर तहसील अंतर्गत पचामा चौराहे में पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष के कार्यकाल में की गई थी। प्रतिमा पिछले 15 वर्षों से चौराहे पर है, लेकिन उसकी सुरक्षा नहीं किए जाने से अब जर्जर हालत में पहुंच चुकी है। किसी ने प्रतिमा को रस्सी से बिजली के खंभे से बांध दिया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि केवल भाजपा के काल में ही प्रतिमा की उपेक्षा नहीं हुई है बल्कि जब यहां बीएसपी के नगर परिषद अध्यक्ष, सांसद एवं विधायक थे तब भी इस प्रतिमा की किसी ने खोज-खबर नहीं ली। सबसे बड़ी बात तो यह है कि जहां प्रतिमा है उस चौराहे के चारों तरफ बाबा साहब को अपना मसीहा मानने वालों की ही बस्ती है। लेकिन स्थानीय नागरिकों ने भी डॉ. अम्बेडकर की इस प्रतिमा का कायाकल्प नहीं किया। मांग की गई है कि प्रतिमा की उपेक्षा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।


जिम्मेदारों ने किया किनारा
जिम्मेदारों ने बाबा साहेब की प्रतिमा के संरक्षण को लेकर किनारा कर लिया है। जिससे अब यह क्षतिग्रस्त प्रतिमा की सुरक्षा नहीं हो पा रही है। स्थानीय नागरियों ने कहा कि नगर परिषद को चाहिए कि वह पुरानी जर्जर प्रतिमा को वहां से हटाकर नई प्र्रतिमा की स्थापना कराई जाए। इसको लेकर डॉ. अम्बेडकर को मानने वालों में आक्रोश भी है। लेकिन प्रशासन अभी तक इस मामले से अनजान बना हुआ है।

Ad Block is Banned