एसजीएमएच में 11 साल से बंद पड़ी 7 लिफ्ट, सुपर स्पेशटिलटी में खराब होने से लिफ्ट का तोड़ा दरवाजा

विंध्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल चार मंजिला अस्पताल में चढऩे के लिए सिर्फ चार लिफ्ट चालू, कागजी प्रक्रिया में जुटा अस्प्ताल प्रबंधन

By: Rajesh Patel

Updated: 23 Feb 2021, 09:52 AM IST

रीवा. सरकारी गैर सरकारी संस्थानों में उपयोग हो रही लिफ्ट भगवान भरोसे चल रही हैं। अस्पताल, मल्टी भवनों में लगी लिफ्ट चलते समय लिफ्ट बंद होने की खबरें आए दिन आ रही हैं। बीते नवंर माह में सुपर स्पेशलिटी की लिफ्ट चलते समय बंद होने से एक लिफ्ट का दरवाजा तोड़ दिया गया है। अभी तक चालू नहीं हो सकी है। इसी तरह एसजीएमएच में 11 साल से सात लिफ्ट बंद पड़ी हैं। आश्वयकता के बाद भी चालू नहीं की जा सकी।
एसजीएमएच में 11 लिफ्ट, मरीजों के लिए दो आरक्षित
मेडिकल कालेज के रेकार्ड के अनुसार हॉस्पिटल संजय गांधी अस्पताल में मरीजों और स्टाफ की सुविधाओं के लिए 11 लिफ्ट लगी हैं। चार मंजिला भवन पर चढऩे के लिए सिर्फ चार लिफ्ट चालू हैं। शेष 7 लिफ्ट 11 साल से बंद पड़ी हैं। एसजीएमएच में चालू चार लिफ्ट में से दो मरीजों के लिए और दो स्टाफ के लिए आरक्षित की गई हैं। मरीजों के लिए आरक्षित लिफ्ट में स्ट्रेचर, भोजन आदि सामग्री का भी उपयोग किया जा रहा है। जिससे मरीजों को दिक्कत हो रही है। दो स्टाफ के लिए आरक्षित है। चारों लिफ्ट में कभी-कभी समय से रिपेयर नहीं होने से दिक्कत होती है। बताया गया कि अस्पताल प्रबंधन सिर्फ चार लिफ्ट चालू होने की अनुमति दी है।
सुपर स्पेशलिटी में पांच में चार लिफ्ट चालू
सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का मुख्यमंत्री ने अक्टूबर में लोकार्पण किया। चार माह के भीतर ही पांच लिफ्ट में एक लिफ्ट खराब हो गई है। बताया गया कि नवंबर माह में ही लिफ्ट चलते समय खराब हो गई थी। फंसे लोगों को निकलने के लिए दरवाजा तोड़ दिया गया था। तब से अभी तक बनाई नहीं जा सकी है।
शिल्पी प्लाजा में भी लिफ्ट जनता के उपयोग में नहीं
बताया गया कि शिल्पी प्लाजा में ऊपर के मंजिल पर चढऩे के लिए सीढ़ी के साथ ही तीन-तीन लिफ्ट भी स्थापित की गई है। जिससे लंबे समय से लिफ्ट आम लोगों के उपयोग के लिए बंद पड़ी हं। बताया गया कि बी-ब्लाक में चेंबर ऑफ कॉमर्स के सदस्यों के अलावा आम जनता को उपयोग में नहीं है। इसी तरह ए-ब्लॉक में लिफ्ट लगी है। आम जतना के लिए छूट नहीं दी गई है। कई दुकानदारों ने बताया कि लिफ्ट चालू नहीं होने से दिक्कत होती है। कुल मिलाकर छह लिफ्ट लगी हैं।
कलेक्ट्रेट में भी एक बार हो चुकी है खराब
कलेक्ट्रेट में लिफ्ट चालू है। करीब छह माह पहले लिफ्ट खराब पड़ी थी। जिसे अधिकारियों के निर्देश पर लिफ्ट को ठीक किया गया। कलेक्ट्रेट के पहली और दूसरे मंजिल पर चढऩे के लिए सीढ़ी के साथ ही एक लिफ्ट भी लगी है। दूसरी मंजिल पर चढऩे के लिए बुजुर्ग व दिव्यांग लिफ्ट का उपयोग करते हैं।

Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned