scriptsgmh rewa, cancer unit | कैंसर रोगियों का उपचार होगा आसान, रीवा सहित तीन शहरों को लीनियर एक्सीलरेटर मशीनें मिलेंगी | Patrika News

कैंसर रोगियों का उपचार होगा आसान, रीवा सहित तीन शहरों को लीनियर एक्सीलरेटर मशीनें मिलेंगी


- लगातार विंध्य में बढ़ते कैंसर रोगियों की संख्या को देखते हुए सरकार ने रीवा को दी स्वीकृति

रीवा

Updated: January 05, 2022 11:12:26 am


रीवा। संजयगांधी अस्पताल में आने वाले दिनों में कैंसर रोगियों का बेहतर उपचार करने के लिए आधुनिक मशीन उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए पूर्व में भेजे गए प्रस्ताव पर मंत्री परिषद की अनुमति मिल गई है। यह सुविधा रीवा, भोपाल एवं इंदौर के मेडिकल कालेजों को दी जाएगी। रीवा के संजयगांधी अस्पताल में अब तक कोबाल्ट यूनिट की मशीन से कैंसर रोगियों को उपचार दिया जाता रहा है लेकिन अब लीनियर एक्सीलरेटर(लीनेक) मशीन उपलब्ध कराई जाएगी। यह आधुनिक रेडिएशन मशीन है, इसके उपयोग से रोगियों के शरीर के दूसरे हिस्सों को रेडिएशन का किसी तरह से नुकसान नहीं पहुंचता है। कोबाल्ट मशीन से कई बार ऐसी शिकायतें आती रही हैं कि शरीर के दूसरे हिस्सों को नुकसान पहुंचता था। सरकार के निर्णय के बाद संजयगांधी अस्पताल में पदस्थ कैंसर यूनिट के विशेष डॉ. अजीत मार्को ने बताया कि लीनियर एक्सीलरेटर शरीर के भीतर जिस अंग को आवश्यकता होती है, वहीं तक रेडिएशन देता है। अत्याधुनिक कम्प्युटराइज्ड मशीन है। रीवा को छह एमबी एनर्जी वाली मशीन मिलेगी। इसकी लागत 18 करोड़ रुपए से शुरू होती है, अलग-अलग कंपनियों और क्षमता के अनुसार कीमत में बढ़ोत्तरी होती है। सरकारी अस्पतालों में अभी एम्स में यह मशीन थी। प्राइवेट अस्पतालों में भोपाल, इंदौर एवं जबलपुर आदि में सुविधाएं हैं।
- रेडिएशन के साइड इफेक्ट से मिलेगी राहत
वर्तमान में रीवा सहित प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों से संबद्ध अस्पतालों में कैंसर के मरीजों का इलाज कोबाल्ट मशीन से किया जाता है। यह इलाज की पुरानी टेक्नीक है। इसकी जगह लीनियर एक्सीलेटर उपलब्ध कराया जाएगा, जिससे मरीजों को रेडिएशन से होने वाले साइड-इफेक्ट कम झेलने होंगे। यह मशीन कैंसरग्रस्त सेल्स को टारगेट करेगी। इससे सामान्य सेल पर रेडिएशन का बुरा असर नहीं पड़ेगा। इसके संचालन का काम समाज सेवा से जुड़ी संस्था द्वारा किया जाएगा।
-----
rewa
sgmh rewa, cancer unit
ऐसे होता है इलाज
संजयगांधी अस्पताल के विशेषज्ञ डॉ. अजीत मार्को ने बताया कि लीनियर एक्सीलरेटर से सीधे कैंसर ट्यूमर वाले हिस्से पर रेडिएशन डाला जाता है, जो दूसरे सेल को खत्म करने के बजाय केवल कैंसर सेल को खत्म करता है। इसमें दूसरी मशीनों के मुकाबले ज्यादा रेडिएशन निकलता है। इसी कारण इसे चलाने के दौरान रेडिएशन ऑन्कोलॉजिस्ट का होना जरूरी है। कोबाल्ट मशीन से कैंसर ट्यूमर के क्षेत्र से एक-दो सेंटीमीटर अधिक क्षेत्र में रेडिएशन दिया जाता है, जिसके कारण स्वस्थ कोशिकाएं भी प्रभावित होती हैं। मरीज को कमजोरी, खून की कमी, सूजन जैसी समस्या होती है। कई मरीज इलाज अधूरा छोड़ देते हैं, जबकि लीनियर एक्सीलेटर कैंसर उपचार के लिए आधुनिक तकनीक का उपकरण है।
--------------
---
कैंसर यूनिट के लिए आधुनिक मशीन की जरूरत थी। जिसका प्रस्ताव भेजा गया था। सरकार ने मंजूरी दे दी है, इससे उपचार में सहजता होगी।
डॉ. एसपी गर्ग, संयुक्त संचालक संजयगांधी अस्पताल रीवा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Cash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कततत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanNew Maruti Alto का इंटीरियर होगा बेहद ख़ास, एडवांस फीचर्स और शानदार माइलेज के साथ होगी लॉन्चVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!प्रदेश में कल से छाएगा घना कोहरा और शीतलहर-जारी हुआ येलो अलर्टइन 4 राशि की लड़कियां अपने पति की किस्मत जगाने वाली मानी जाती हैंToyoto Innova से लेकर Maruti Brezza तक, CNG अवतार में आ रही है ये 7 मशहूर गाड़ियां, जानिए कब होंगी लॉन्च

बड़ी खबरें

Coronavirus update: 24 घंटे में कोरोना के 3 लाख 37 हजार नए केस, 488 मौतेंUP Election 2022: पूर्वांचल के 12 हजार बूथों पर होगी निर्वाचन आयोग की पैनी नजर, किसी तरह की गड़बड़ी पलक झपकते होगी दूरClub House Chat मामले में दिल्ली पुलिस कर रही 19 वर्षीय छात्र से पूछताछ, हरियाणा से भी हुई तीन गिरफ्तारियांCorona Vaccine: वैक्सीन के लिए नई गाइडलाइंस, कोरोना से ठीक होने के कितने महीने बाद लगेगा टीकाGood News: प्रियंका चोपड़ा और निक जोनस बने माता-पिता, एक्ट्रेस ने पोस्ट शेयर कर फैंस को बताया- बेबी आया है...UP Election 2022: .. इस प्रदेश में तो आधी आबादी ही तय करती है किसकी बनेगी सरकारUP Election: भाजपा की 25 वर्षीय वह उम्मीदवार जो आ गई सुर्खियों में, पिता हाल ही में हुए थे सपा में शामिलजानलेवा लहर- 5 दिन की बच्ची समेत कई मौतें, नए केसों में एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.