सुपर स्पेशलिटी को नहीं मिल रहे डाक्टर्स, 81 मेडिकल शिक्षकों की होगी भर्ती

 

- मेडिकल कालेज ने फिर शुरू की प्रक्रिया, विज्ञापन जारी किया गया
- पूर्व में कई बार प्रयास के बाद भी चिकित्सकों की नहीं रही है रुचि

By: Mrigendra Singh

Published: 04 Oct 2021, 10:04 PM IST


रीवा। चिकित्सीय सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए श्यामशाह मेडिकल कालेज से संबद्ध सुपर स्पेशलिटी ब्लाक की स्थापना की गई है। इसमें सेवाएं देने के लिए विशेषज्ञ चिकित्सक सामने नहीं आ रहे हैं। लगातार मेडिकल कालेज प्रबंधन द्वारा नियुक्तियों के लिए विज्ञापन जारी किया जा रहा है, इसके बावजूद लगातार पद खाली हैं। एक बार फिर से अब मेडिकल कालेज ने बड़ी संख्या में नियुक्तियों के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। इसमें प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर एवं असिस्टेंट प्रोफेसर आदि के 81 पदों पर आवेदन बुलाए गए हैं। इन नियुक्तियों में शासन द्वारा निर्धारित मापदंडों के अनुसार ही आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। यह आवेदन पत्र आगामी ३१ दिसंबर तक जमा किए जा सकेंगे। जिसमें कहा गया है कि पदों के अनुसार आवश्यक आहर्ताओं की पूर्ति से जुड़े आवेदन के दस्तावेज नहीं लगाने की दशा में आवेदक की जवाबदेही होगी। कुछ विभागों में नई नियुक्तियां की गई हैं। जिससे सुपर स्पेशलिटी में दवाएं भी शुरू कर दी गई हैं लेकिन अब भी बड़ी संख्या में पद खाली होने की वजह से स्वास्थ्य सेवाएं बाधित हो रही हैं। सुपर स्पेशलिटी में संभागभर से गंभीर मरीजों को उपचार के लिए लाया जाता है, इसलिए चिकित्सकों की जरूरत भी उसी अनुपात में है।
-
प्रोफेसर को मिलेगी तीन लाख की वेतन
सुपर स्पेशलिटी में सेवाएं देने वाले चिकित्सकों को विशेष सेवा के तहत नियुक्तियां दी जाती हैं। इसलिए इनका वेतन भी अधिक होता है। जो नई नियुक्तियां की जाएंगी उसमें प्रोफेसर को तीन लाख रुपए प्रति महीने, एसोसिएट प्रोफेसर को २.५० लाख रुपए प्रतिमाह और असिस्टेंट प्रोफेसर को १.५० लाख रुपए प्रतिमाह का वेतन निर्धारित किया गया है। साथ ही आठ प्रतिशत वार्षिक वेतनवृद्धि हर साल मिलेगी। इसके अलावा शासन द्वारा निर्धारित अन्य वेतन भत्ते भी दिए जाएंगे।
----
संसाधनों की कमी भी बन रही वजह
अस्पताल में वेतन के अलावा बाहर से आने वाले चिकित्सक दूसरी भी सुविधाओं से जुड़े संसाधन देखते हैं। उस हिसाब से अभी रीवा में व्यवस्थाएं नहीं हैं। आवासीय कालोनी भी बेहतर नहीं है। साथ ही बच्चों की पढ़ाई सहित महानगरों से एयर कनेक्टिविटी सीधी नहीं होने को भी कारण बताया जा रहा है।
-------------
इन पदों पर होंगी नियुक्तियां
प्रोफेसर- एनेथेसिया एक, न्यूरोलॉजी तीन, न्यूरोसर्जरी तीन, इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी एक, पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजी एक, इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी एक, नेफ्रोलॉजी तीन, यूरोलॉजी तीन, न्यूनाटोलाजी तीन, कार्डियक सर्जरी तीन, रेडियो डायग्रोसिस एक।
एसोसिएट प्रोफेसर--
एनेथेसिया दो, न्यूरोलॉजी तीन, न्यूरोसर्जरी दो, इलेक्ट्रोफिजियोलॉजी एक, पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजी एक, नेफ्रोलॉजी तीन, यूरोलॉजी दो, न्यूनाटोलाजी तीन, कार्डियक सर्जरी एक, रेडियो डायग्रोसिस एक।

असिस्टेंट प्रोफेसर---
एनेथेसिया चार, न्यूरोलॉजी छह, न्यूरोसर्जरी चार, पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजी दो, नेफ्रोलॉजी पांच, यूरोलॉजी चार, न्यूनाटोलाजी छह, कार्डियक सर्जरी छह, रेडियो डायग्रोसिस दो पद।
-----------------------------------
रेसीडेंट के लिए हर सप्ताह हो रहा इंटरव्यू
ेमेडिकल कालेज ने रेसीडेंट डाक्टर्स के लिए हर सप्ताह के बुधवार को इंटरव्यू करने का निर्णय लिया है। इसके लिए कई सप्ताह से इंटरव्यू का क्रम जारी है। वर्तमान में सीनियर रेसीडेंट के सात पद खाली हैं। इसी तरह जूनियर में अस्थि रोग, इएनटी एवं डर्मेटोलॉजी आदि में छह पदों पर नियुक्तियां की जानी है। इसके लिए हर सप्ताह रिक्तियों की घोषणा की जाती है।

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned