कलेजे के टुकड़े का शव लेकर सारी स्कूल में बैठे रहे परिजन, जानिए क्या था मामला

कलेजे के टुकड़े का शव लेकर सारी स्कूल में बैठे रहे परिजन, जानिए क्या था मामला
Take the body of a piece of litter and sit in the school, know what wa

Shiv Shankar Pandey | Publish: Jul, 20 2019 08:59:48 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

शाहपुर थाने के बरांव गांव में तालाब में डूबने से हुई थी छात्र की मौत, दो निलंबित व मुआवजे की घोषणा

रीवा। एक दिन पूर्व तालाब में डूबने से छात्र की मौत पर बवाल दूसरे दिन भी जारी रहा। हालांकि पुलिस ने सुबह किसी तरह परिजनों को समझाईश दी और लिखित में उनकी मांगे ली जिसके बाद परिजन शव का पोस्टमार्टम करवाने को राजी हो गए। सारी रात परिजन विद्यालय परिसर में शव लेकर बैठे रहे।

तालाब में डूबने से हुई थी मौत
शाहपुर थाना अन्तर्गत बरांव निवासी आलोक शर्मा पिता बुद्धप्रकाश (१९) शुक्रवार को विद्यालय में बैग रखकर दूसरे बच्चों के साथ तालाब में नहाने चला गया था जहां उसकी डूबने से मौत हो गई। तालाब से शव निकालकर परिजन विद्यालय परिसर में धरने पर बैठ गए और विद्यालय के शिक्षकों व तालाब को खुदवाने वाले ठेकेदार पर प्रकरण दर्ज करने की मांग करने लगे। मौके पर एसडीओपी, तहसीलदार समेत भारी पुलिस बल मौजूद रहा जिसने देर रात तक परिजनों को समझाईश देने का प्रयास किया। पूर्व विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना भी रात में मौके पर पहुंचे थे लेकिन परिजन अपनी मांग पर अड़े रहे। रात करीब एक बजे तक परिजन नहीं माने तो अधिकारी वापस लौट आए। सारी रात परिजन विद्यालय परिसर में ही बैठे रहे। सुबह पुन: अधिकारियों ने परिजनों को समझाईश देने का प्रयास किया।

लिखित में पुलिस ने ली परिजनों की मांगे
परिजनों की मांगे लिखित में ली गई है जिसमें उन्होंने पीडि़त परिवार को मुआवजा, विद्यालय के शिक्षकों को हटाने, तालाब की मिट्टी निकलवाने वाले ठेकेदार पर कार्रवाई की मांग शामिल रही। अधिकारियों के आश्वासन पर परिजन शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने को राजी हो गए। शनिवार को करीब साढ़े दस बजे सुबह शव को हनुमना सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। इस मामले में हेडमास्टर व अध्यापक को शुक्रवार को देररात ही निलंबित कर दिया गया था।

हंगामे के चलते शनिवार को विद्यालय में नहीं संचालित हुई कक्षाएं
इस पूरे मामले को लेकर शनिवार को विद्यालय में कक्षाएं संचालित नहीं हुई। परिजन विद्यालय परिसर में ही बैठे रहे और काफी भीड़भाड़ परिसर में एकत्र थी जिसकी वजह से विद्यालय की कक्षाएं निरस्त कर दी गई थी। शनिवार को विद्यालय में छात्र नहीं पहुंचे।

पूरे मामले की जांच की जायेगी
परिजन विद्यालय के शिक्षकों को हटाने व ठेकेदार पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। उनको जांच के बाद उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आऐंगे उस आधार पर कार्रवाई की जायेगी।
संतोष निगम, एसडीओपी मऊगंज

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned