बांस-बल्लियों के सहारे लटक रहे विद्युत तार, भय के साये में ग्रामीण

बांस-बल्लियों के सहारे लटक रहे विद्युत तार, भय के साये में ग्रामीण
Tandon village case

Anil Kumar | Updated: 04 Jul 2019, 05:15:14 PM (IST) Rewa, Rewa, Madhya Pradesh, India

बांस-बल्लियों के सहारे लटक रहे विद्युत तार, भय के साये में ग्रामीण
ढीले तारों से हो सकता है हादसा

रीवा/बैकुंठपुर. बिजली विभाग की लापरवाही से ग्रामीण क्षेत्रों में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। बड़ी एलटी लाइन बांस-बल्लियों के सहारे है। एलटी लाइन के तार ढीले होने से गांव के लोग भयभीत हैं। जानकारी के अनुसार मनगवां फीडर अंतर्गत तेंदुन गांव से एलटी लाइन गुजरी है। जिसके तार ढीले हैं और आपस में टकराते रहते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि इस लाइन का केबलीकरण होना चाहिए लेकिन अभी तक विभाग द्वारा इस दिशा में कोई प्रयास नहीं किया गया।

1980 में खींचा गया था तार
बताया गया है कि तेंदुन, नेबूहा, बड़ीहर्दी में 1980 में एलटी लाइन खींची गई थी। इस लाइन में अभी भी वही पुराने तार लगे हुए हैं। जिनमेें जगह-जगह ज्वाइंट है और वे जर्जर हो चुके हैं। गावं के लोगों ने इस ढीले तारों में बांस-बल्ली लगाया गया है। तार नीचे तक झूलते हैं जिससे खेतों में काम करने में खतरा है। वहीं तेज हवा चलने से तार आपस में टकराते हैं जिससे चिंगारी उठती है, जो खतरनाक हो सकती है। इसके चलतें ही आएदिन फाल्ट जैसी समस्या बनी रहती है। इस लाइन का केबलीकरण किया जाना चाहिए।
यादव बस्ती में नहीं पहुंची बिजली
सौभाग्य योजना के तहत भी यादव बस्ती में बिजली नहीं पहुंची है। जिससे लेाग परेशान हैं, जबकि कई बार विभाग के अधिकारियों को जानकारी दी गई है। बताया गया है कि तेेंदुन गावं की यादव बस्ती में खंभें नहीं होने के कारण बांस-बल्ली के सहारे तार खींचकर बिजली पहुंचाई गई है। इससे हमेशा खतरा बना रहता है। गांव के लोगों ने मांग की है कि खंभे गाड़कर बस्ती में बिजली पहुंचाई जाए।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned