गरीबों के राशन का समिति प्रबंधक व सेल्समैन ने किया बंदरबांट

बैकुंठपुर थाने के सलैया उचित मूल्य की दुकान का मामला, खाद्य विभाग ने की पूरे मामले की जांच

By: Shivshankar pandey

Published: 11 Jun 2021, 08:48 AM IST

रीवा। कागजों में वितरण दिखाकर शासकीय उचित मूल्य की दुकान के सेल्समैन ने गरीबों का राशन डकार लिया। कलेक्टर के निर्देश पर जब इस मामले की जांच हुई तो पूरी सत्यता सामने आ गई। खाद्य विभाग की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बैकुंठपुर थाने के सलैया उचित मूल्य की दुकान का यह पूरा मामला है।

गरीबों को वितरण के लिए हुआ था आवंटित
शासकीय उचित मूल्य की दुकान सलैया में गरीबों को वितरण के लिए गेहूं, चावल, केरोसिन व शक्कर का आवंटन किया गया था। उक्त खाद्यान्न गरीबों को वितरित करना था लेकिन समिति प्रबंधक व सेल्समैन ने उसका बंदरबांट कर लिया। फरवरी, मार्च व अप्रैल माह का पूरा खाद्यान्न व केरोसिन दोनों मिलकर बाजार में बेंच दिया। इस पूरे मामले की शिकायत स्थानीय लोगों ने जिला कलेक्टर से की थी। कलेक्टर के निर्देश पर रोहित बघेल कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी ने इस पूरे मामले की जांच की। जांच में पूरा फर्जीवाड़ा सामने आ गया। हितग्राहियों का अंगूठा तो लगवाया गया लेकिन राशन के लिए उनको पर्ची नहीं दी गई और खाद्यान्न को गायब कर दिया गया।

खाद्य अधिकारी ने की पूरे मामले की जांच
कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अंधिकारी ने जब मशीन की जांच की तो स्टाक में मौजूद राशन भी उचित मूल्य की दुकान में नहीं मिला। उन्होंने उसे भी गायब कर दिया था। प्रारंभिक जांच में 154.6 क्विंटल गेहूं, चावल 45.93 क्विंटल के अलावा शक्कर व तेल का फर्जीवाड़ा सामने आया है। उन्होंने इस पूरे मामले की शिकायत थाने में दर्ज कराई जिस पर पुलिस ने समिति प्रबंधक व सेल्समैन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस फिलहाल पूरे मामले की जांच कर तथ्यों को जुटाने में लगी है।

पुलिस कर रही जांच
कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी ने इस मामले की जांच की थी जिसमें खाद्यान्न गबन करने की बात सामने आई थी। उनकी शिकायत पर समिति प्रबंधक व सेल्समैन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आऐंगे उस आधार पर आगे कार्रवाई की जायेगी।
राजकुमार मिश्रा, थाना प्रभारी बैकुंठपुर

Show More
Shivshankar pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned