ट्रेन रोकने गए प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, जनिए क्यों करना पड़ा लाठीचार्ज

Balmukund Dwivedi | Publish: Sep, 06 2018 09:49:46 PM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 03:33:29 AM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

कार्रवाई में दो हुए घायल, तीन लोग को पुलिस ने हिरासत में लिया, कड़ी सुरक्षा के बीच डीएम की उपस्थित रवाना हुई आनंद विहार, धारा-144 बेअसर, प्रदर्शनकारी बेकाबू, तमाबीन रहा प्रशासन

रीवा। एससी एसटी एक्ट के विरोध में दिनभर चला शांतपूर्ण आंदोलन पुलिस के लाठी चार्ज के बाद उग्र हो गया। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की। जिसके बाद रेलवे कॉलोनी में प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। जिसमें दो युवक घायल हुए हैं। उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। साथ ही तीन लोगोंं को पुलिस ने हिरासत में लिया है। लाठी चार्ज के बाद अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। कड़ी सुरक्षा के बीच आनंद विहार ट्रेन को अपने निर्धारित समय दोपहर 4 बजे रवाना किया गया। जिले में एक्ट्रोसिटी एक्ट के विरोध में प्रदर्शन के दौरान धारा- 144 बेअसर रही। आंदोलनकारियों के सामने प्रशासन तमाशबीन बना रहा। जिसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ा।

स्टेशन परिसर में घुसने ही नहीं दिया
बताया जा रहा है कि दिनभर शांति पूर्ण आंदोलन करने के बाद सर्वण समाज के लोग दोपहर बाद करीब तीन बजे रेल रोककर विरोध प्रदर्शन करने पहुंच गए। इस बीच पुलिस ने समझाइश देकर उन्हें रोकने का प्रयास किया। यहां तक कि स्टेशन परिसर में घुसने ही नहीं दिया। जिसके चलते सतना इंड से प्रदर्शन कर ट्रेन रोकने पहुंच गए। इसी बीच बातचीत के दौरान अचानक पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया जिससे भगदड़ मच गई। पुलिस के लाठी चार्ज का प्रदर्शनकारियों ने पत्थर से जबाव दिया, तब पुलिस ने बल प्रयोग कर दिया। इसमें दो युवकों को गंभीर चोट आई है।

पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले
स्टेशन परिसर में स्थित बिगड़ते देख पुलिस ने आंसू गैस के तीन गोले छोड़े। जो हवा विपरीत दिशा में होने के कारण निष्प्रभावी रहे, लेकिन इस आंसू गैस के चपेट में एक महिला आरक्षक चक्कर रखाकर गिर पड़ी। तत्काल उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है।

 

bhart band
IMAGE CREDIT: patrika

सर्चिंग के बाद रवाना हुई ट्रेन
रेलवे स्टेशन में हंगामा निर्मित होने के बाद पूरे आनंद विहार टे्रन की संघन जांच की गई।यात्रियों की तलाशी लेने व पूछंताछ के बाद ट्रेन को निर्धारित समय पर रवाना किया गया। इसके साथ ही डभौरा रेलवे स्टेशन में सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल रवाना किया गया है।वहीं रेलवे स्टेशन में भी अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

घायल को बैठाए देख बिफरी कलेक्टर
पुलिस की मारपीट में घायल युवक को पुलिसकर्मियों ने स्टेशन पर ही बैठा रखा था। इस दौरान कई प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को अस्पताल ले जाने की बात कही, लेकिन पुलिस अफसरों ने नहीं सुना। इसके बाद कलेक्टर प्रीति मैथिल पहुंचकर पुलिस के इस रवैया पर नाराजगी जाहिर करते हुए तत्काल वाहन ने अस्पताल भेजा।

एडीएम की गाड़ी के पत्थरबाजी
रेलवे स्टेशन में पत्थरबाजी के दौरान गुजर रहे एडीएम के वाहन में पत्थरबाजी की गई। इस घटना में एडीएम के वाहन का कांच टूट गया, लेकिन वाहन में लगे पर्दों ने पत्थरों को रोक दिया। इससे कोई हताहत नहीं हुआ।

एसपी के पहुंचते ही बिगड़ी बात
रेलवे स्टेशन में सर्वण समाज के लोगों को वहां उपस्थित पुलिस अधिकारी समझाइश दे रहे थे कि इसी बीच एसपी सुशांत सक्सेना ने पहुंचकर खदेडऩा प्रांरभ कर दिया। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने एसपी का रवैया देख लाठी चार्ज कर दिया और सामाने से पत्थर बाजी होने लगी।

Ad Block is Banned