48 दिन तक नहीं देखी सूर्य की किरण, अपनों से मिलते ही छलक पड़े आंसू, जानिए कैसे सही यातना

48 दिन तक नहीं देखी सूर्य की किरण, अपनों से मिलते ही छलक पड़े आंसू, जानिए कैसे सही यातना

Shiv Shankar Pandey | Publish: Sep, 11 2018 06:39:43 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 06:42:23 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

अपहरणकर्ताओं के चंगुल से छुटकर संत बहादुर पहुंचे रीवा, परिजनों की खुशी का नहीं रहा ठिकाना, एसपी ने की मुलाकात

रीवा. मौत के साये में एक माह से भी अधिक का समय गुजारने वाले सीधी के संत बहादुर सिंह रविवार रात जब घर पहुंचे तो परिजनों की खुशी का ठिकाना न रहा। पूरा परिवार युवक से लिपट-लिपट कर घंटों रोया। इतने दिनों का दर्द युवक की आंखों से आंसू बनकर छलकर आया। रीवा से अपहृत संत बहादुर सिंह को बिहार से अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मुक्त करवाने के बाद पुलिस रविवार रात रीवा लेकर पहुंची। परिजनों के साथ युवक को उनके बोदाबाग स्थित घर में रात करीब नौ बजे लाया गया। जैसे ही वह घर पहुंचे परिजनों ने गले से लगाकर स्वागत किया। ५२ दिन दहशत और खौफ के बीच रात गुजारने वाला युवक रविवार रात पहली बार घर में चैन की नींद सोया। खतरनाक हथियारों से लैश अपहरणकर्ताओं के बीच रहने के बाद भी युवक ने साहस बनाए रखा जिसकी वजह से अन्र्तराज्जीय गिरोह के हाथों से सुरक्षित बचकर आज घर पहुंच गया। युवक 48 दिनों तक एक ही कमरे में बंद रहा। युवक को सूर्य की किरणें भी देखना नसीब नहीं हुआ। जिस कमरे में उसे रखा जाता था उसकी रोशनी हर समय बंद रहती थी।

एसपी ने की मुलाकात
उक्त युवक से सोमवार सुबह पुलिस अधीक्षक सुशांत सक्सेना ने भी मुलाकात की। सुबह परिजनों के साथ पहुंचे युवक से पुलिस अधीक्षक ने काफी देर तक बात की और उनसे घटना की जानकारी ली। युवक से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस अब मामले की आगे जांच कर रही है। हालांकि मामले की गंभीरता को देखते हुए फिलहाल पुलिस ज्यादा जानकारी सार्वजनिक नहीं कर रही है।

डंडा मारकर किया था बेहोश
घटना दिनांक को बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल से युवक का अपहरण किया था। बदमाशों ने युवक की गाड़ी को ओवरटेक करके गुढ़ सोलर प्लांट से करीब एक किमी आगे मोहनिया घाटी के पास रोका था। बदमाश पुलिस की वर्दी में थे जिससे युवक भी उनको पुलिस ही समझ कर गाड़ी सड़क किनारे लगाकर नीचे उतर आया। बदमाश युवक के वाहन की चेकिंग कर रहे थे। इसी बीच किसी ने उसको पीछे से सिर में डंडा मारा जिससे बेहोश हो गया। उसके बाद बेहोशी हालत में बदमाश उसे अपने फोरह्वीलर से महसांव तक लौटकर आये और वहां से रायपुर कर्चुलियान वाली रोड पकड़कर हाइवे पर आ गए। युवक की गाड़ी को लेकर जाने वाला बदमाश मनोज सिंह निवासी औरंगाबाद था। गाड़ी का डीजल खत्म होने पर बदमाश उसे चुनार के पास ही छोड़कर फरार हो गया।

युवक को परिजनों को सौंपा
सुशांत सक्सेना, एसपी रीवा ने बताया कि पुलिस युवक को लेकर रीवा आ गई जिन्हें फिलहाल परिजनों को सौंप दिया गया है। आरोपियों को जल्द से जल्द रिमांड में लाने का प्रयास किया जा रहा है। उनसे पूछताछ के बाद ही आगे कार्रवाई की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned