ढाई किलोमीटर के दोहरे टनल का सात स्थानों पर होगा आपस में जुड़ाव, 20 से फिर शुरू होगा कार्य

- लॉकडाउन की वजह से महीने भर से बंद है मोहनियाघाटी में बन रहे टनल का निर्माण कार्य

By: Mrigendra Singh

Published: 18 Apr 2020, 08:47 PM IST

--
रीवा। रीवा से रांची जाने वाले नेशनल हाइवे में कैमोर पहाड़ के मोहनिया घाटी में बन रहे टनल का रुका हुआ कार्य २० अप्रेल से फिर प्रारंभ होगा। रीवा-सीधी जिले के बार्डर पर बनने वाले इस टनल से दोनों शहरों की दूरी भी करीब सात किलोमीटर कम होगी। पहाड़ में ढाई किलोमीटर लंबाई के इस दोहरे टनल का आपस में सात स्थानों पर जुड़ाव होगा। यह इसलिए किया जा रहा है कि ताकि कभी कोई मरम्मत या फिर एक टनल में आवागमन बाधित हो तो दूसरे टनल के जरिए वाहनों की आवाजाही बहाल की जा सके। इस टनल के प्रारंभ होने से मोहनिया घाटी में वाहनों को घुमाव की वजह से अभी तक जो दूरी तय करनी पड़ रही है, वह सात किलोमीटर कम हो जाएगी। कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते इसमें चल रहा कार्य रोक दिया गया था। देश के प्रमुख प्रोजेक्ट में से एक है, इसका समय सीमा पर बनना आवश्यक है, इस वजह से अब फिर कार्य प्रारंभ होने जा रहा है। अधिकांश कार्य मशीनरी के जरिए ही हो रहा है। नए सिरे से प्रारंभ होने वाले इस कार्य में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष पालन करने के निर्देश दिए गए हैं। यह मार्ग रीवा से रांची तक जा रहा है, साथ ही बनारस पहुंचने का भी दूसरा मार्ग होगा। टनल की वजह से मोहनिया घाटी पर रीवा-सीधी मार्ग का निर्माण नहीं किया गया है। मोहनिया के बाद सड़क मार्ग चुरहट होते हुए सीधी तक पूरा हो गया है। चुरहट के पास कुछ हिस्सा शेष रह गया है, जो कुछ दिन में पूरा होने की जानकारी मिली है।
- यूपी कैनाल तोड़कर बनाई जा रही टनल
कैमोर पहाड़ के किनारे उत्तर प्रदेश परियोजना की नहर से बाणसागर बांध का पानी जाता है। टनल इसी नहर से होकर गुजरेगी, इसलिए नहर को तोड़ा गया है। अब नहर के नीचे से टनल बन रही है और ऊपर से नहर का पानी जाएगा। अभी कार्य में विलंब की वजह से नहर की मरम्मत का भी कार्य पूरा नहीं हो सका है। बाणसागर के पानी से मिर्जापुर सहित आसपास के कई जिलों में पानी पहुंचाया जा रहा है। नेशनल हाइवे अथारिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआइ) कटनी पीआइयू के इंजीनियरों को एक्वाडक्ट बनाने के लिए 120 दिन (29 मई से 30 सितंबर) का समय यूपी सरकार ने दिया तो टीम ने दस दिन पहले ही काम पूरा कर दिया। बतादें कि कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन का असर यहां चल रहे १००४ करोड़ रूपए की परियोजना पर पड़ा। एक माह तक काम बंद रहने के बाद 20 अप्रैल से प्रारंभ होगा।

वर्जन
20 अप्रेल से 1004 करोड़ रुपये के रीवा-सीधी बाइपास प्रोजेक्ट में मोहनिया घाटी पर टनल, एक्वाडक्ट और सड़क का निर्माण प्रारंभ होगा। इस निर्माण से रीवा से सीधी की दूरी करीब सात किलोमीटर कम होगी। मोहनिया घाटी पर सफर का जोखिम भी कम होगा।
सुमेश बाझल प्रोजेक्ट डायरेक्टर एनएचएआइ पीआइयू कटनी

Mrigendra Singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned