हल्दी का विवाद पूर्व सरपंच की मौत का कारण बना

लौर पुलिस ने हत्या के आरोप में महिला को न्यायालय में पेश किया

 

रीवा. एक दिन पूर्व शिक्षिका के पति की हत्या का कारण महज भोजन में डालने वाली हल्दी थी। हल्दी को लेकर शुरू हुए विवाद में पूर्व सरपंच को अपनी जान गंवानी पड़ी। लौर थाने के पूर्व माध्यमिक विद्यालय घुघुरी में पदस्थ शिक्षिका सुशीला तिवारी के पति संतोष तिवारी का सोमवार की दोपहर यहां भोजन बनाने वाली रसोईया उर्मिला सोंधिया से विवाद हो गया था जिस पर महिला ने डंडे से उन पर हमला कर दिया जिससे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

दरअसल सोमवार को यह विवाद हल्दी से शुरू हुआ था। रसोई घर में हल्दी खत्म हो गई थी जिस पर रसोईया हल्दी लेने अध्यापक के पास गई थी। इस दौरान शिक्षिका का उससे विवाद हो गया। शिक्षिका लेने के लिए उसी समय पति वहां आ गए जिनका रसोईया से विवाद हो गया। उसी दौरान महिला ने चूल्हे से लकड़ी निकाली और उनके सिर पर हमला कर दिया। लकड़ी का वार उनके गले के पीछे लगा था। आशंका जताई जा रही है कि अंदरुनी चोट की वजह से उनकी मौत हो गई है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर महिला को न्यायालय में पेश कर दिया जिसको जेल भेज दिया गया है। किसी ने सपने में भी कल्पना नहीं की थी कि इतनी छोटी सी बात पर हुए विवाद में हत्या जैसी घटना हो जायेगी। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

दूसरे दिन विद्यालय में बंद रहा ताला

इस घटना के दूसरे दिन भी विद्यालय संचालित नहीं हुआ। सुबह से ही विद्यालय में ताला बंद था और कुछ शिक्षक बाहर खड़े नजर आए। वहीं छात्र भी विद्यालय आए थे लेकिन ताला बंद देखकर वापस लौट गए। विद्यालय परिसर में दिन भर सन्नाटा पसरा रहा। घटना के बाद से ही स्कूल में बच्चों की छुट्टी कर उनको घर भेज दिया गया था।

हत्या का मामला दर्ज कर महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे न्यायालय में पेश कर दिया गया है। घटना की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आऐंगे उस आधार पर आगे कार्रवाई की जायेगी।
आबिद खान, एसपी रीवा

Show More
Manoj singh Chouhan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned