कॉलेज में भडक़े छात्र तो प्राचार्य सहित दूसरे अधिकारियों को छूटा पसीना, जानिए क्या है मामला

छात्रों ने लगाया मनमानी का आरोप...

By: Ajeet shukla

Published: 24 Jul 2018, 01:06 PM IST

रीवा। दो चरण की प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो गई है लेकिन अभी तक हायर सेकंडरी में 60 फीसदी अंक प्राप्त करने वाले छात्रों का प्रवेश नहीं हुआ है। प्रवेश प्रक्रिया में मनमानी का आरोप लगाते हुए एनएसयूआइ छात्रों ने सोमवार को टीआरएस कॉलेज में प्रदर्शन किया। जिलाध्यक्ष अनूप सिंह चंदेल के नेतृत्व में दर्जनों छात्रों ने प्राचार्य कक्ष के सामने नारेबाजी की।

60 फीसदी अंक मिलने के बावजूद नहीं हुआ प्रवेश
छात्रों ने प्रदर्शन के दौरान कहा कि एक ओर जहां 60 फीसदी अंक प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राएं प्रवेश से वंचित हैं। वहीं दूसरी ओर कॉलेज में इंटरनेट की समस्या के चलते छात्रों के दस्तावेज का वेरीफिकेशन त्वरित गति से नहीं हो पा रहा है।

हड़बड़ी में छात्र ले रहे अनचाहे कॉलेजों व पाठ्यक्रम में प्रवेश
छात्रों ने कहा कि प्रवेश नहीं होने से छात्र परेशान हैं और हड़बड़ी दूसरे कॉलेजों में प्रवेश ले ले रहे हैं जबकि गत वर्षों की स्थिति पर गौर किया जाए तो अंत में कॉलेज के कई पाठ्यक्रमों में सीट खाली रह जाती है। इस बार भी ऐसा ही होने की संभावना है।

प्राचार्य व नियंत्रक ने छात्रों को दी समझाइस, तब माने
छात्रों के आक्रोश को देखते हुए कॉलेज प्राचार्य डॉ. सत्येंद्र शर्मा व नियंत्रक डॉ. रामलला शुक्ल ने छात्रों को समझाइस दी और कहा कि वह निर्धारित नियमों व मेरिट के मुताबिक प्रवेश कर रहे हैं। कोशिश होगी कि मेरिट में आना वाला कोई भी छात्र प्रवेश से वंचित नहीं रहे। प्राचार्य की समझाइस पर छात्र शांत हुए।

धरना में एनएसयूआइ पदाधिकारी सहित यह छात्र रहे शामिल
कॉलेज में धरना प्रदर्शन करने वालों में छात्र मंजुल त्रिपाठी, शुभम चंदेल, अभिषेक तिवारी, अर्पित पांडेय, सोमिल पांडेय, पवन सिंह, मुजीब खान, यमन अली, शनि सिंह, विपिन तिवारी, धीरेंद्र द्विवेदी, रवि शर्मा, कमलाकर तिवारी, अनुराग तिवारी, मोहित पाण्डेय, विपिन तिवारी व अखण्ड सिंह सहित भारी संख्या में छात्र उपस्थित रहे।

Show More
Ajeet shukla Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned