रीवा में अघोषित बिजली कटौती

रातभर आती-जाती रही बिजली, उपभोक्ताओं में आक्रोश, पारा मार रहा उछाल, गर्मी से लोग बेहाल

By: Dilip Patel

Published: 23 May 2018, 12:39 PM IST

रीवा। भीषण गर्मी में शहर में अघोषित विद्युत कटौती की जा रही है। जिससे शहर के उपभोक्ता परेशान हैं। रात हो या दिन चार से पांच घंटे की कटौती ने चैन छीन लिया है।
अनंतपुर वार्ड 10 में सोमवार रात 9 बजे गई बिजली दस घंटे बाद आई। खुटेही, बजरंग नगर, बोदाबाग, उर्रहट, पीके स्कूल मोहल्ला सहित इंजीनियरिंग कॉलेज फीडर अंतर्गत रात को लोग बिजली के लिए तरस गए। थोड़ी-थोड़ी देर में ट्रिपिंग होती रही। उर्रहट में मंगलवार की सुबह 6 बजे गई बिजली तीन घंटे बाद 9 बजे आई। दोपहर में भी बिजली आंख मिचौली करती रही। घोघर, बिछिया, ढेकहा मोहल्ले में बिजली कई घंटे गुल रही।
मप्र पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के शहर संभाग स्थित कंट्रोल रूम नंबर पर लोग फोन घुमाते रहे लेकिन यहां मौजूद कर्मचारी सही जानकारी नहीं दे सके। केवल शिकायत दर्ज कर इतिश्री करते रहे। जिससे अनंतपुर के उपभोक्ता आक्रोशित हो गए। रात में कई उपभोक्ता कंट्रोल रूम तक पहुंचे भी। लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। दरअसल, विद्युत कटौती की समस्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। भीषण गर्मी में अधिकारी कर्मचारी कटौती की सही वजह भी नहीं बता पा रहे हैं जिससे आक्रोश बढ़ रहा है।
नेहरू नगर में घिरे कार्यपालनयंत्री
उधर, एफओसी सेंटर नेहरू नगर पहुंचे कार्यपालनयंत्री अमित कुमार को उपभोक्ताओं ने घेर लिया। विद्युत कटौती की समस्या से अवगत कराते हुए निर्बाध बिजली आपूर्ति की मांग की। कार्यपालनयंत्री ने मौके पर ही कर्मचारियों को समस्या निराकरण के निर्देश दिए। कहा विद्युत प्रदाय बंद होते ही अमला सक्रिय होगा। जल्दी से जल्दी फॉल्ट सुधार कर विद्युत प्रदाय किया जाएगा। जिसके बाद उपभोक्ता शांत हुए।
लोगों ने दी घुड़की तो लगाया ट्रांसफार्मर
उधर मनिकवार-1 में कई दिनों से 100 केवी का ट्रांसफार्मर खराब होने से बिजली का हाहाकार मचा था। दक्षिण टोला निवासी बुद्धसेन जायसवाल और राजकुमार जायसवाल ने कई बार शिकायत की थी। लेकिन वितरण केंंद्र मनिकवार के जिम्मेदार सुनने को तैयार नहीं थे। ऐसे में लोगों को जैसे ही मुख्यमंत्री के आने की सूचना मिली वैसे ही लोगों ने ऐलान कर दिया कि ट्रांसफार्मर की समस्या उन तक पहुंचाई जाएगी। यह घुड़की मिलते ही बिजली कंपनी के जिम्मेदार आनन-फानन में पहुंच गए। जिस ट्रांसफार्मर कई दिनों से बदलने की राह देखी जा रही थी वह दो घंटे के भीतर बदल गया।
पारा पहुंचा 44 डिग्री के पार
मंगलवार को अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो बुुधवार को 44 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है जबकि न्यूनतम तापमान 24.7 डिग्री सेल्सियस के करीब दर्ज किया गया है। मौसम केंद्र भोपाल के अनुसार, पश्चिमी हवाओं ने रुख बदला है। साथ ही गति भी तीव्र हो गई है। जिससे वातावरण में गर्मी अत्यधिक बढ़ गई है। हालात ये हैं कि दिन और रात के तापमान में भी अंतर ज्यादा नहीं है। पश्चिमी हवाओं की गर्मी से उमस दिन और रात बरकरार है। जिसे देखते हुए मौसम वैज्ञानिकों ने भी गर्मी से सावधान रहने की सलाह दी है।

Dilip Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned