अंग्रेजी भाषा में मिला प्रश्न पत्र तो नहीं पढ़ पाए परीक्षार्थी, करने लगे हंगामा

अंग्रेजी भाषा में मिला प्रश्न पत्र तो नहीं पढ़ पाए परीक्षार्थी, करने लगे हंगामा
university exam question paper

Vedmani Dwivedi | Publish: May, 13 2019 09:43:48 PM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

बीए 6वें सेमेस्टर की परीक्षा में कई परीक्षा केन्द्रों पर छात्रों ने जताई आपत्ति , एपीएसयू प्रबंधन की सफाई,अंग्रेजी माध्यम से ही रहता है बेसिक कम्यूटर का प्रश्न पत्र

रीवा. अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के बीए 6वें सेमेस्टर परीक्षा में अंग्रेजी माध्यम से प्रश्न पत्र आने पर हिन्दी माध्यम से पढ़ाई कर रहे छात्रों के पसीने छूट गए। कई छात्र ऐसे थे जो प्रश्न का मतलब ही नहीं समझ पा रहे थे। ऐसे में वे उत्तर क्या लिखें। छात्रों को उत्तर हिन्दी माध्यम में ही लिखना था लेकिन अंग्रेजी माध्यम से प्रश्न पत्र होने की वजह से वे प्रश्नों को समझ ही नहीं पा रहे थे। इसे लेकर कई परीक्षा केन्द्रों से छात्र - छात्राओं ने आपत्ति जताई। जिसके बाद केन्द्र प्रभारियों ने विश्वविद्यालय के अधिकारियों से इस संबंध में बात की।

हालांकि इस पूरे मामले में छात्रों की आपत्ति को विश्वविद्यालय प्रबंधन ने निराधार बताया है। सफाई दी जा रही है कि बेसिक कंप्यूटर का प्रश्न पत्र अंग्रेजी माध्यम से ही रहता है। पिछले वर्ष भी इसी तरह से प्रश्न पत्र तैयार किए गए थे।

एपीएसयू की इन दिनों परीक्षा चल रही है। सोमवार को अन्य कक्षाओं के साथ ही बीए 6वें सेमेस्टर की परीक्षा थी। दोपहर 11 से 2 बजे के बीच समय निर्धारित था। परीक्षार्थी निर्धारित समय 11 बजे परीक्षा केन्द्र पर पहुंचे। जब उनमें प्रश्न पत्र बंटा तो देखकर उनके माथे से पसीना छूटने लगा। प्रश्न पत्र पूरा अंग्रेजी माध्यम में था। छात्रों को अपेक्षा थी हिन्दी माध्यम से प्रश्न पत्र आएगा। हिन्दी माध्यम से पढ़ाई कर रहे छात्रों को ज्यादा दिक्कत हुई उन्होंने आपत्ति जताई।

रायपुर कर्चुलियान में परीक्षार्थियों का हंगामा
प्रश्न पत्र अंग्रेजी माध्यम से आने को लेकर रायपुर कर्चुलियान के छात्रों ने कॉलेज में हंगामा किया। कुछ समय तक हंगामा करने के बाद में छात्र मान गए। बताया गया कि परीक्षा कार्य में ड्यूटी में लगे कर्मचारियों ने छात्रों को मौखिक रूप से अंग्रेजी की हिन्दी बताई। जिसके बाद छात्रों ने प्रश्न पत्र हल किया। रायपुर कर्चुलियान के साथ ही सिंगरौली के स्नातकोत्तर महाविद्यालय में भी प्राचार्य के सामने छात्रों ने आपत्ति जताई।

दोनों माध्यम से रहना चाहिए प्रश्न पत्र
इस प्रकार की शिकायत हमें भी मिली हैं। फिलहाल मै भोपाल में हूॅ। इसलिए कुछ स्पष्ट कह पाना मुश्किल हैं। सामान्यत: नियमों के मुताबिक हिन्दी माध्यम से पढऩे वाले परीक्षार्थियों का प्रश्न पत्र हिन्दी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होने चाहिए। केवल अंग्रेजी विषय का प्रश्न पत्र अंग्रेजी माध्यम में रहता है।
डा. सत्येन्द्र शर्मा, अतिरिक्त संचालक उच्च शिक्षा रीवा

अंग्रजी माध्यम से आता है प्रश्न पत्र
कंप्यूटर बेसिक का प्रश्न पत्र अंग्रेजी माध्यम से ही आता है। पिछले वर्ष भी इसी तरह का प्रश्न पत्र दिया गया था। जिन छात्रों से कुछ आता - जाता नहीं वे हंगामा करते हैं। हमने प्राचार्यों को बोल दिया कि छात्रों को प्रश्न पत्र को हिन्दी में उच्चारण कर मौखिक रूप से बता दिया जाए। इस प्रकार परीक्षा करा ली गई है।
लाल साहब सिंह, कुलसचिव, एपीएसयू

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned