केन्द्रों पर प्रति दिन 60 हजार क्विंटल की तौल, परिवहन 50 फीसदी

जिले में 104 केन्द्रों में से 71 केन्द्र पर एक-एक हजार क्विंटल गेहूं डंप, लडखड़़ाई परिवहन व्यवस्था

By: Rajesh Patel

Published: 10 May 2020, 02:25 PM IST

रीवा. जिले में परिवहनकर्ता की अनदेखी के चलते केन्द्रों पर तौल की व्यवस्था लडखड़़ा गई है। केन्द्रों पर पचास फीसदी उपज का उठाव नहीं होने से तौल प्रभावित होने लगा है। कलेक्टर ने केन्द्रों पर रखरखाव के साथ ही परिवहन की गति बढ़ाए जाने का निर्देश दिया है। जिले में 104 केन्द्रो पर तौल हो रही है। देरशाम तक लगभग पांच लाख क्विंटल तौल हो चुकी है। अभी तक केन्द्रों पर पचास फीसदी उपज रखी हुई है।

केन्द्रों पर एक-एक हजार क्विंटल गेहूं डंप
जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते आलम यह है कि 71 केन्द्र ऐसे हैं जहां पर अभी तक एक-एक हजार क्विंटल गेहूं डंप है। गेहूं का समय से परिवहन नहीं होने के कारण केन्द्रों पर तौल प्रभावित होने लगी है। केन्द्र प्रभारी और परिवहनकर्ता एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ रहे हैं। निरीक्षण के दौरान केन्द्र पर बोरियों की सिलाई नहीं हुई है। परिहनकर्ताओं ने अधिकारियों को सूचना दी है कि केन्द्रों पर बोरियों का रखरखाव बेतरीब है। सिलाई नहीं होने से लोडिंग नहीं हो पा रही है।
एक दूसरे पर फोड़ रहे ठीकरा
परिवहनकर्ता और केन्द्र प्रभारी एक दूसरे पर ठीकरा फोड़ रहे हैं। बताया गया कि प्रतिदिन औसत 60 हजार क्विंटल तौल हो रहा है। जबकि परिवहन की रफ्तार महज 30 हजार क्विंटल की है। मामले में जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक ने पत्र लिखकर प्रगति बढ़ाने का निर्देश दिया है।

COVID-19
Show More
Rajesh Patel Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned