बर्तन और पैसे लौटा कर 20 दिन में बनाया विश्वास, 5 परिवारों से 10 लाख के जेवर लेकर लापता हुई महिला ठग

मऊगंज थाने के डगडोआ गांव में हुई घटना, गुरुवार को जेवर लेकर जाते हैं बंद हो गया था मोबाइल

By: Balmukund Dwivedi

Published: 21 Aug 2021, 12:45 AM IST

रीवा. शातिर दिमाग महिला ने 20 दिन तक गांव के लोगों को बर्तन और रुपए लौटा कर उनको विश्वास में लिया और 1 दिन पूर्व 5 परिवारों से 10 लाख के जेवर समेट कर चंपत हो गई। शुक्रवार को उसे जेवर लेकर वापस आना था लेकिन मोबाइल बंद करके वह लापता हो गई। ठगी का पता चलते ही अब पूरे गांव में हड़कंप मचा हुआ है। अजीबो गरीब ठगी का मामला मऊगंज थाने के डगडौआ गांव का है। यहां पर एक महिला करीब 20 दिनों से आती थी। उसने पहले तो गांव वालों को डिजाइन दिखाने के लिए लोगों के बर्तन लेकर जाया करती थी और दूसरे दिन बर्तन के साथ 200 उनको देती थी। ऐसा करके उसने गांव के कई परिवार की महिलाओं को झांसा दिया और धीरे-धीरे महिलाएं उस पर काफी विश्वास करने लगी। उसने 5 परिवारों से करीब 10 लाख के जेवर समेट लिये जिसे उसने गुरुवार की शाम 4:00 बजे तक लौटाने और साथ में 20- 20 हजार रुपए भी देने का झांसा दिया था जिससे महिलाएं उसकी बातों में आ गई। 5 परिवारों की महिलाओं ने अपने सारे दे दिए जिसे लेकर वह चली गई। शाम 4:00 बजे तक जब वह वापस लौटकर नहीं आई तो महिलाओं ने उसका मोबाइल लगाया तो वह बंद था। शुक्रवार को भी उसका मोबाइल चालू नहीं हुआ तब महिलाओं को ठगी की जानकारी हुई। अब परेशान होकर वे महिला की तलाश में भटक रही हैं लेकिन उसका पता नहीं चल पाया।

डिजाइन दिखाने के बदले देती थी रुपए
उक्त महिला बाइक में सवार एक युवक के साथ आती थी। युवक बाइक के साथ हाईवे में खड़ा रहता था और वह पैदल गांव में लोगों के पास आती है। वह महिलाओं से पहले बर्तन लेकर जाती थी। उनको छत्तीसगढ़ सरकार की योजना बता कर कंपनी में बर्तन की डिजाइन दिखाने की जानकारी देती और दूसरे दिन उनको बर्तन के साथ 200 भी देती थी। उसने यह की योजना गरीबों के लिए बताते हुए गांव की गरीब परिवारों को ही निशाना बनाया था। करीब 20 दिनों तक वह इसी तरह लोगों के बर्तन ले जाती और दूसरे दिन पैसे के साथ लौटाती थी। जब महिलाओं को उस पर पूरा विश्वास हो गया तो उसने इसी तरह महिलाओं से जेवर मांगे और दूसरे दिन जेवर के साथ उनको 20-20 हजार रुपये देने की बात कही जिस पर महिलाएं लालच में आ गई और अपने सारे जेवर महिला को थमा दिए।

ये जेवर लेकर हुई लापता
उक्त महिला 5 लोगों के जेवर समेट कर चंपत हुई है। इनमें पार्वती साकेत पति फूलचंद साकेत से चादी की करथन आधा किलो, हाफसेट एक पाव, चादी का गुछा 5 तोला, चादी झुमका, चादी की बिछिया, गले की लाकेट, सुनीता यादव पति राजमणि यादव निवासी डगडौआ से मनचली सोने की 7 लैकेट की, एक पाव की पौजेहर, बिझिया दो तोला, रज्जो बाई कुशवाहा पति छठिलाल कुशवाहा से करधन आधा किलो, सोने की लाकेट, मुदरी, पावजेहर, रामपाल साकेत से अंगुठी, पायल, मनचली, झागल, मंगलसूत्र, सुलेखा पति विनोद साकेत से सोने की लाकेट, अ़गूठी, पायल दो नग, झुमका, बच्चो के लाकेट पायल शामिल है। इसके अतिरिक्त करीब 10 परिवारों के बर्तन भी महिला अपने साथ ले गई हैं।

घरों में नहीं जले चूल्हे, भूखे प्यासे महिला को ढूंढने निकले परिवार
ठगी का मामला सामने आने के बाद शुक्रवार को पूरे गांव में हड़कंप मच गया। महिला को अपने जेवर देने वाला परिवार गहरे सदमे में है। हालत यह है कि शुक्रवार को इन घरों में चूल्हे तक नहीं जले। दो परिवार के लोग सुबह से भूखे प्यासे इस महिला को ढूंढ रहे हैं जिसका अभी तक पता नहीं चल पाया है। उन्होंने शिकायत तक थाने में दर्ज नहीं कराई है।

वर्जन
ऐसी कोई ठगी की शिकायत अभी थाने में नहीं आई है। हम पीड़ित महिलाओं से संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं। शिकायत मिलने पर आगे कार्रवाई की जाएगी।
विजय डाबर, एएसपी मऊगंज

Balmukund Dwivedi Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned