इको टूरिज्म के प्रोजेक्ट का कार्य पूरा, राशि में हेराफेरी का आरोप, जानिए कैसे हुआ घालमेल

इको टूरिज्म के प्रोजेक्ट का कार्य पूरा, राशि में हेराफेरी का आरोप, जानिए कैसे हुआ घालमेल

Mrigendra Singh | Publish: Sep, 08 2018 07:20:09 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

पर्यटन बोर्ड के सीईओ के पास पहुंची शिकायत, कामकाज में नहीं बरती गई पारदर्शिता, सीसीएफ और डीएफओ से भी शिकायत

रीवा. इको टूरिज्म प्रोजेक्टके तहत जिले के कईप्राकृतिक स्थलों को चिन्हित किया गया है। जिसमें से दो के लिए राशि भी आवंटित की गईहै। सिरमौर के नजदीक घिनौचीधाम प्राकृतिक स्थल में विकास कार्यों के लिए ३५.५० लाख रुपए आवंटित किए गए थे। जिसके कार्य भी पूरे होने की कगार पर हैं। वन विभाग की देखरेख में हो रही इस कार्य का अब लोकार्पण कराने की भी तैयारी चल रही है। सीसीएफ और डीएफओ ने कुछ दिन पहले ही स्थल का भ्रमण किया था। जहां पर मौजूद स्थानीय लोगों ने चल रहे निर्माण कार्यों की गुणवत्ता पर सवाल उठाए थे। जिसमें कहा गया था कि सीढिय़ों के साथ जो रेलिंग लगाई गई है, उसकी गुणवत्ता ठीक नहीं है।

राशि में घालमेल होने की आशंका
प्रसाधन सुविधा के लिए चार लाख रुपए शासन की ओर से आवंटित किए गए थे। जिसमें दो नग रेडीमेट प्लास्टिक टायलेट लगाए गए हैं। जिनकी कीमत बाजार में ६० हजार के करीब है। इन्हें लगाने और अन्य सामग्री में माना जा रहा हैकि कुल एक लाख रुपए खर्च हुए हैं। दो टायलेट लगाने में दो लाख के खर्चका अनुमान स्थानीय लोगों ने बताया है। ऐसे में शासन द्वारा आवंटित की गई राशि में घालमेल होने की आशंका भी जताईगईहै। सीसीएफ ने उस दौरान लोगों को आश्वस्त किया था कि यदि कहीं पर भी गड़बड़ी हुईहै तो उस पर कार्रवाई होगी। बताया जा रहा हैकि कुछ शिकायतें पर्यटन बोर्डके अधिकारियों के पास भी भेजी गई हैं।

फोटोग्राफी स्पॉट अब तक विकसित नहीं
घिनौचीधाम में झरने और हरे-भरे जंगल के बीच मंदिर स्थित है। यहां पर फोटो खींचने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। प्रोजेक्ट में कहा गया था कि फोटोग्राफी स्पॉट और व्यू प्वाइंट विशेष रूप से बनाया जाए। जिससे लोग सुरक्षित स्थान से फोटो खींच सकें। इसके अलावा फेसिंग एवं रेलिंग, पैगोड़ा, मुख्य गेट, पार्किंग स्थल, पेयजल की व्यवस्था, प्रकृति पथ, सिटआउट, पौधरोपण आदि के कार्य कराने के लिए कहा गया था। जिसमें अधिकांश कार्य पूरे हो चुके हैं।

शूटिंग के लिए पहुंचे कलाकार
घिनौचीधाम में जंगल और झरने के प्राकृतिक दृश्य के बीच वीडियो शूट करने के लिए इनदिनों दूर-दूर से कलाकार आ रहे हैं। शुक्रवार को रीवा और सतना के कलाकार पहुंचे थे, जिन्होंने वीडियो एलबम के लिए शूटिंग की। बताया जाता हैकि कुछ दिन पहले भोपाल और छतरपुर की भी टीमें यहां पर फोटो और वीडियो शूट कर चुकी हैं। कई भजनों के वीडियो यहां पर फिल्माए गए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned