दुनिया के 61 देशों ने भारत के इस सोलर प्रोजेक्ट को सराहा, जानिए इसमें क्या है खासियत

दुनिया के 61 देशों ने भारत के इस सोलर प्रोजेक्ट को सराहा, जानिए इसमें क्या है खासियत

Mrigendra Singh | Publish: Mar, 14 2018 12:30:53 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 12:51:05 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

इंटरनेशनल सोलर अलायंस में केन्द्र सरकार ने माडल प्रोजेक्ट के रूप में किया पेश

रीवा। भारत और फ्रांस के प्रयासों से गठित इंटरनेशनल सोलर अलायंस (आइएसए) समिट का आयोजन दिल्ली में किया गया। जहां पर केन्द्र सरकार ने सोलर एनर्जी के क्षेत्र में किए जा रहे प्रयासों के बारे में लोगों को बताया। इसमें रीवा के बदवार पहाड़ में स्थापित होने जा रहे 750 मेगावॉट क्षमता के अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्रोजेक्ट का भी उल्लेख किया गया।
सरकार की ओर से बताया गया कि पथरीली भूमि जो कृषि योग्य नहीं थी, उसका उपयोग करते हुए सोलर पॉवर प्लांट लगाया जा रहा है। इस समिट में 61 देशों के प्रमुख प्रतिनिधियों के समक्ष रीवा के सोलर पॉवर प्लांट को मॉडल के रूप में पेश किया गया। जिसमें यह भी कहा गया है कि इस प्लांट के चलते क्षेत्र में रोजगार के साधन तो बढ़ेंगे ही, साथ ही सौर ऊर्जा के उपयोग के प्रति लोगों का रुझान भी बढ़ा है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी दुनिया के विभिन्न देशों से आए प्रतिनिधियों को देश के प्रमुख सोलर पॉवर प्लांटों का भ्रमण करने के लिए आमंत्रण भी दिया और कहा कि उनका प्रयास है कि भारत में बेहतर प्लांट बनाए जाएं।

उत्पादन की दर सबसे कम
तीन इकाइयों में स्थापित हो रहे इस सोलर पॉवर प्रोजेक्ट में उत्पादन के लिए कंपनियों को आमंत्रित किया गया था। जिसमें दुनिया भर की 20 से अधिक कंपनियों ने सहभागिता की थी। 2.97 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली उत्पादन की दर तय हुई है। यह पहला अवसर था जब इतनी सस्ती दर पर बिजली उत्पादन के लिए कंपनियां तैयार हुई। इसके बारे में भी प्रमुख सचिव ने प्रजेंटेशन दिया। बताया गया कि 750 मेगावाट क्षमता के इस प्रोजेक्ट से 99 मेगावाट दिल्ली मेट्रो और 651 मेगावाट एमपी पॉवर मैनेजमेंट कंपनी बिजली खरीदेगी।

दुनिया के छह बड़े प्रोजेक्टों पर प्रजेंटेशन
इंटरनेशनल सोलर अलायंस समिट में दुनिया के छह बड़े सोलर पॉवर प्रोजेक्ट का प्रजेंटेशन किया गया। जिसमें तीन भारत के थे। इसमें रीवा का अल्ट्रामेगा सोलर पॉवर प्लांट प्रमुख था। इसके अलावा आंध्रप्रदेश के कुरनूल प्रोजेक्ट पर भी चर्चा हुई। चीन ने भी सोलर एनर्जी के क्षेत्र में बड़ा काम किया है। फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा है कि वह इंटरनेशनल सोलर अलायंस को आर्थिक मदद करेंगे।

भोपाल आए प्रतिनिधियों के सामने भी प्रजेंटेशन
15 प्रमुख देशों के प्रतिनिधि सोलर पंप योजना, रूफटॉप संयंत्र आदि की जानकारी लेने के लिए भोपाल पहुंचा। मुख्यमंत्री से मिलने के बाद इन्हें कई स्थानों का भ्रमण भी कराया गया। अफ्रीकी देशों में इन योजनाओं की तरह कार्य करने का प्लान बनाया गया है। इस बीच नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग के अधिकारियों ने रीवा के अल्ट्रा मेगा सोलर पॉवर प्रोजेक्ट के बारे में भी जानकारी दी है।

लंबे समय तक याद किए जाएंगे मोदी
रीवा सांसद जनार्दन मिश्रा ने कहा कि बदवार पहाड़ की भूमि पर स्थापित हो रहे सबसे बड़े सोलर पॉवर प्रोजेक्ट की चर्चा दुनियाभर के देशों के प्रतिनिधियों के सामने होना गौरव की बात है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भारत विश्व का नेतृत्व कर रहा है। इसमें रीवा की सहभागिता महत्वपूर्ण है। पीएम मोदी लंबे समय तक याद किए जाएंगे।

रीवा की दुनिया भर में बनेगी पहचान
जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी एसएस गौतम कहते हैं कि इंटरनेशन सोलर अलायंस समिट में सौर ऊर्जा की योजनाओं पर चर्चा हुई है। जिसमें रीवा के सोलर पॉवर प्लांट का भी प्रजेंटेशन हुआ है। दुनिया भर में इसकी अलग पहचान बनेगी। जल्द ही बिजली उत्पादन की भी तैयारी है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned