आर्थिक मंदी का ऐसा मंजर न देखा होगा, जान कर चौंक जाएंगे...

-मंदी के इस दौर में सीधे-सादे लोग भी बन रहे अपराधी

By: Ajay Chaturvedi

Published: 09 Jul 2021, 11:00 AM IST

रीवा. आर्थिक मंदी ने लोगो को इस कदर अंदर तक हिला दिया है कि वो इस कठिन दौर से निकलने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। इस दौर में अपना-पराया सब कुछ भूल चुके हैं। अवसाद की इस अवस्था में वो अपराध की ओर भी जाने से नहीं हिचक रहे। ऐसा ही एक चौंकाने वाला मामला रीवा में सामने आया है।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि जिले के पनवार थाना क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति जो कर्ज में पूरी तरह से डूबा था। उसने अपनों से पैसा निकलवाने के लिए खुद के अपहरण की साजिश रची। लेकिन आदतन अपराधी न होने के कारण जल्द ही पकड़ा गया।

जनकारी के अनुसार पनवार थाने के खम्हरिया गांव के रहने वाले राजाराम सिंह पटेल ने अपने छोटे भाई के मोबाइल पर मैसेज कर लिखा कि मेरा अपहरण हो गया है। फिरौती के 25 हजार रुपए चाहिए। भाई ने इस मैसेज को भाभी के मोबाइल पर फारवर्ड कर दिया, जिसके बाद इस बात की जानकारी पूरे घर वालों को हुई।

परिवार के लोगों ने राजाराम के अपहरण की जानकारी पनवार थाने को दी। पनवार थाने की पुलिस ने इससे उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। उच्चाधिकारियों ने अपहरणकर्ता को पकड़ने और अपहृत को मुक्त कराने के लिए एक टीम गठित की। साइबर सेल के माध्यम से मोबाइल का लोकेशन ट्रैस किया गया तो पता चला कि युवक सतना रेलवे स्टेशन पर है।

युवक का लोकेशन मिलने के बाद पुलिस की एक टीम सतना के लिए रवाना हुई। साथ ही पुलिस ने परिजनों से सतना में रहने वाले रिस्तेदारों को रेलवे स्टेशन भेजने को कहा। इस पर कई रिस्तेदार रेलवे स्टेशन सतना पहुंचे तो राजाराम सिंह प्लेटफार्म नम्बर 1 पर बैठा मिला। इसकी सूचना रिस्तेदारों ने पुलिस को दी। मौके पर पहुची पुलिस ने राजाराम को पकड़ लिया।

सतना स्टेशन से बरामद राजाराण ने पुलिस की पूछताछ में बताया जाता है कि वह कर्जदार है। कर्ज देने वाले पैसा वापस मांग रहे है। ऐसे में घरवालों से पैसा निकालने के लिए उसने अपने ही अपहरण की योजना बनाई। वह बुधवार सुबह 10 बजे बस द्वारा पनवार से रीवा आया। वहां से बस में सवार होकर सतना गया और बाद में रेलवे स्टेशन में जाकर बैठ गया और वहां से फोन लगा दिया।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned