युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पर्यवेक्षक पर किया पथराव, बुलानी पड़ी पुलिस

युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पर्यवेक्षक पर किया पथराव, बुलानी पड़ी पुलिस

Mrigendra Singh | Publish: Mar, 14 2018 10:37:50 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 10:37:51 PM (IST) Rewa, Madhya Pradesh, India

फार्म नहीं लेने के चलते कई सदस्यों ने सर्किटहाउस में किया पथराव

रीवा। युवा कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के लिए सदस्यता फार्म जमा कराने के दौरान हंगामा मच गया। कार्यकर्ताओं में गुटबाजी साफ तौर पर देखी गई, अलग-अलग गुटों में पहुंचे कार्यकर्ताओं की पर्यवेक्षकों से कहासुनी भी हुई। मामला बिगड़ते देख पर्यवेक्षक ने पुलिस को सूचित किया। कुछ देर बाद पुलिस बल ने हंगामा शांत कराया। देर रात तक पर्यवेक्षकों ने फार्म जमा कराए। इसे लेकर भी कुछ सदस्यों ने आपत्ति उठाई और कहा है कि समय बीतने के बाद फार्म जमा कराना नियम विरुद्ध है।
सर्किट हाउस में युवा कांग्रेस के चुनाव पर्यवेक्षक धनपत सिंह नेगी ने सुबह से ही जिलेभर के युवा कांग्रेस के नेताओं से फार्म लेना शुरू कर दिया था। बताया गया है कि शाम करीब पौने पांच बजे ही उन्होंने दरवाजा बंद करवा दिया और फार्म लेना बंद कर दिया। इसके चलते कई कार्यकर्ताओं के फार्म नहीं लिए गए। इस पर दिवाकर, स्वतंत्र, आलोक, सनी, विनीत, अखिल सहित अन्य ने हंगामा मचा दिया और दरवाजा खुलवाने का प्रयास करने लगे।
आरोप है कि समय से पहले ही सदस्यता फार्म लेना बंद करवा दिया था। इसके चलते सैकड़ों फार्म नहीं लिए गए। इस बीच सर्किट हाउस के बाहर से नाराज कार्यकर्ताओं ने पथराव भी किया। बढ़ते हंगामे को देखते हुए पर्यवेक्षक ने पुलिस को सूचना दी।

घंटों हंगामे के बाद जमा कराया फार्म
विवाद बढऩे पर घंटों हंगामा मचा रहा। पर्यवेक्षक इस बात पर अड़े रहे कि निर्धारित समय के बाद वह फार्म नहीं ले सकते। देर रात फार्म लिया गया लेकिन यह भी कहा गया है कि इस पर समय अंकित किया जाएगा। इन्हें संगठन के चुनाव प्रकोष्ठ के सामने रखा जाएगा। वहीं पर तय होगा कि यह फार्म स्वीकार होंगे अथवा नहीं।

बनने जोर लगा रहे नेता
बीते 8 फरवरी से 14 मार्च तक सदस्यता अभियान चलाया गया। आखिरी दिन फार्म जमा कराने के लिए समय नियत किया गया था। युवा कांग्रेस में लोकसभा और विधानसभा कमेटियों का अध्यक्ष बनने के लिए कई नेता जोर लगा रहे हैं। इसी के चलते अपने समर्थकों का फार्म जमाने कराने के लिए हंगामा मचाया। इस फार्म में सदस्य बनाए गए कार्यकर्ता ही अध्यक्ष के लिए मतदान करने के लिए अधिकृत होंगे।

खुलकर दिखी गुटबाजी
कांग्रेस के सभी संगठनों में गुटबाजी चरम पर होती है। बीते कुछ समय से स्थितियां सामान्य हो रही थी। फार्म जमा कराए जाने के समय अलग-अलग गुटों के नेता पहुंचे थे और इस बात पर जोर लगा रहे थे कि उनके अधिक से अधिक संख्या में फार्म जमा कराए जाएं। आरोप भी लगाया है कि जो पर्यवेक्षक आए हैं वह पक्षपात पूर्वक कार्यवाही कर रहे हैं।

चुनाव प्रकोष्ठ को सौंपेंगे रिपोर्ट
चुनाव कराने रीवा पहुंचे पर्यवेक्षक धनपाल सिंह नेगी ने कहा कि चुनाव के लिए जो प्रक्रिया थी उसका पालन कराया गया है। कुछ सदस्यों ने हंगामा मचाने का प्रयास किया। निर्धारित समय के बाद जमा कराए गए फार्मों की जानकारी वरिष्ठ कार्यालय को भेजी जाएगी, वहां से ही इस पर निर्णय होगा।

Ad Block is Banned