सागर को स्मार्ट बनाने के लिए मिले 34 करोड़, ये है स्वच्छता में रैंकिंग में स्थान

सागर को स्मार्ट बनाने के लिए मिले 34 करोड़, ये है स्वच्छता में रैंकिंग में स्थान

Manish Kumar Dubey | Publish: Sep, 16 2018 05:03:06 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

योजना के तहत अब तक जारी हो चुके, 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के टेंडर

2 दिन में राज्य शासन के अंशदान के साथ एसएससीएल के बैंक खाता में पहुंच जाएंगे 68 करोड़, पूर्व में मिल चुके २२ करोड़
सागर. स्मार्ट सिटी मिशन में एसएससीएल (सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड) अब तक करीब 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के विकास कार्यों के लिए टेंडर प्रक्रिया आयोजित कर चुका है। यही वजह है कि प्रदेश के अन्य स्मार्ट शहरों की जहां आगे की किस्तें रोक दीं गईं हैं वहीं सागर को हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 34 करोड़ रुपए की राशि भेजी गई है। एसएससीएल के कार्यकारी निदेशक व निगमायुक्त अनुराग वर्मा ने बताया कि यह राशि नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग भोपाल जल्द ही एसएससीएल के बैंक खाता में राज्य शासन के अंशदान के साथ भेजेगा। एसएससीएल को अब कुल ६८ करोड़ मिलने हैं, जबकि पूर्व में २२ करोड़ रुपए आ चुके हैं।
एसएससीएल के अधिकारियों ने बीते कुछ महीनों में ताबड़तोड़ निर्णय लेकर योजना को पटरी पर ला दिया है। यही वजह है कि सागर की रैंकिंग देश में 56वें स्थान से सीधे 19वें स्थान पर आ गई है। योजना में सागर का चयन थर्ड राउंड के तहत वित्तीय वर्ष-2017 में हुआ था। वित्तीय वर्ष-2017-18 और 2018-19 में दो-दो सौ करोड़ के हिसाब सअब तक 400 करोड़ रुपए की राशि आनी चाहिए थी।
पिछड़ रहे प्रदेश के अन्य स्मार्ट शहर
जानकारी के मुताबिक भोपाल, इंदौर और जबलपुर को अब तक396-396 करोड़ की राशि जारी की गई है जिसमें से ये शहर क्रमश: 223, 270 और 65 करोड़ की राशि ही विकास
कार्यों पर खर्च कर पाए हैं। ग्वालियर और उज्जैन शहरों को 336 करोड़ की राशि जारी होने की बात सामने आई है जिसमें से ये शहर क्रमश: 6 व 15 करोड़ की राशि खर्च कर पाए हैं। सागर और सतना शहर का चयन इन शहरों से दो साल बाद हुआ था फिर भी सागर ने अच्छी उपलब्धि हासिल कर ली है।
अब इसी स्पीड से चलेगा काम-शुरुआती कागजी कार्रवाई में ज्यादा समय लगा था। प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद अब एसएससीएल पटरी पर आ गई है। स्मार्ट सिटी योजना के तहत अब फुल स्पीड में काम होगा। रैंकिंग में और ज्यादा सुधार होगा। दो-तीन दिन में एसएससीएल के बैंक खाता में बड़ी राशि आने वाली है।
अनुराग वर्मा, कार्यकारी निदेशक व निगमायुक्त

 

 

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned