दो फीट जमीन के लिए अपनों पर दागी दनादन गोलियां,5 की ली जान

बीना में शुक्रवार रात हुआ था विवाद, चाचा के लड़के ने मामूली बात से नाराज होकर निकाली बंदूक, दनादन कर दिए फायर, घर में मौजूद 5 की हत्या

By: Samved Jain

Published: 22 Jun 2019, 01:20 PM IST

बीना. सागर जिले के बीना में दो फुट जमीन के लिए अपनों पर दनादन गोलियां बरसाकर 5 लोगों की हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस वारदात के बाद पूरे क्षेत्र में दहशत का माहौल है। पुलिस ने सिरफिरे हत्यारे को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो अन्य के विरुद्ध भी प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है। रात में हुई इन खौफनाक वारदात के बाद शनिवार की सुबह पूरे क्षेत्र का माहौल गमगीन नजर आ रहा है।

 

शुक्रवार की रात हुई वारदात के बाद से शनिवार की सुबह तक भारी पुलिस बल बीना में लगा हुआ है। फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। वहीं मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। दोपहर तक मृतकों के शव सागर से बीना पहुंचाएं जा सकते है। इसके बाद भी एक साथ पांच अर्थियां बीना के गणेश वार्ड से उठेगी।

 

Bina murder case

दो फुट जमीन को लेकर चल रही थी मामूली बहस

 

गनेश वार्ड में जिस जगह से पुलिस ने एक के बाद एक पांच शवों को उठाकर अस्पताल भेजा। वही दो फुट जमीन ऐसी भी है, जिसे लेकर पूरी जमीन रक्तरंजित हो गई। इस दो फुट जमीन के लिए चाचा मनोहर के पुत्र प्रशांत सगर और बड़ेपिता के पुत्र संजीव सगर का वाद विवाद रात करीब ८ बजे के बाद शुरू हो गया। दोनों में जमीन को लेकर बहस चल रही थी। प्रशांत जमीन देने तो संजीव न देने के लिए अड़ा था और बहस बढ़ती जा रही थी। इसी बीच कुछ देर के लिए मामला शांत हो गया, लेकिन कुछ ही देर में प्रशांत बंदूक लेकर आया और फायर करना शुरू कर दिया।

 

Bina murder case

गोली की आवाज सुनते ही सभी आए बाहर, मौत


बताया गया है कि जैसे ही प्रशांत ने दनादन फायर शुरू किए। गोली की आवाज सुनकर संजीव और उसका परिवार भी बाहर आ गया। जिसे देख प्रशांत ने बड़े भाई संजीव के परिवार पर एक के बाद एक अनेक फायर कर दिए। जिसमें संजीव सगर, उसकी पत्नी राजकुमारी, पुत्र जसवंत 10 साल, भाई मनोज सगर 35 साल और ताराबाई 62 को गोली व छर्रे लगे। तत्काल ही सभी को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन संजीव, उसकी पत्नी, भाई और बेटा को डॉक्टर्स ने मृत घोषित कर दिया, जबकि ताराबाई की देर रात उपचार के दौरान मौत हो गई।

Bina murder case

वारदात की जानकारी लगते ही हड़कंप, पुलिस पहुंची


इस लोमहर्षक वारदात की जानकारी जैसे ही बीना थाना पुलिस को लगी, मौके पर पहुंची। इधर दनादन फायर के बाद मोहल्ले के लोग भी मौके पर एकत्रित हो गया। बताया गया है कि वारदात के बाद आरोपी प्रशांत मौके पर ही रहा। बीना थाना प्रभारी अनिल मौर्य ने बताया कि पुलिस ने लायसेंसी 12 बोर की बंदूक के साथ गिरफ्तार कर लिया है। मामले में बीना थाना पुलिस ने आरोपियों की संख्या बढ़ाई है, जिनकी भी तलाश की जा रही है।

Bina murder case

भाभी- बहन ने दरबाजा बंद कर बचाई जान


बताया गया है कि इस वारदात के दौरान प्रशांत के ऊपर खून सवार था। वह सामने आ रहे हर शख्स पर गोली दाग रहा था। अंधाधुंध फायरिंग के दौरान जब भाभी और बहन ने दरवाजा लगाकर अपनी जान बचाई। बताया गया है कि फायरिंग होते देख मनोज की पत्नी, बहन और भांजी एक कमरे में दरवाजे लगाकर बंद हो गए। यदि वह कमरे में बंद नहीं होते तो उनकी भी जान चली जाती है, क्योंकि गुस्साएं आरोपी को कुछ नहीं दिख रहा था। इधर घटना के बाद पूरे वार्ड में दशहत का माहौल बना हुआ है। एक ही परिवार के पांच सदस्यों की मौत से लोगों का सदमा लगा है। घटना की सूचना लगते ही अस्पताल में बड़ी संख्या में लोग पहुंच गए थे।

 

दोपहर तक उठेगी एक साथ अर्थियां


इस सनसनीखेज वारदात के बाद गणेश वार्ड में गम का माहौल है। बीना अस्पताल से ४ शवों का पोस्टमॉर्टम हो चुका है। जबकि ताराबाई का शव सागर से अभी बीना नहीं पहुंच सका है। जिसके सागर से बीना पहुंचने के बाद एक साथ पांच अर्थियां उठेगीं।

Samved Jain
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned