लूट-डकैती की साजिश रच रहे 7 बदमाश गिरफ्तार, पुलिस ने एेसे दी दबिश

मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने घेराबंदी कर दबोचा

By: sunil lakhera

Published: 24 Jul 2018, 09:58 AM IST

सागर. गढ़पहरा के पास हाइवे के नजदीक लूट-डकैती का षड्यंत्र रच रहे सात बदमाशों को पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर घेराबंदी कर रविवार रात गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के हत्थे चढ़ बदमाशों के खिलाफ शहर के थानों में पहले से ही अपराध दर्ज हैं। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने तैयार बैठे बदमाशों के पास से दो कट्टे- कारतूस, तलवार, चाकू और रॉड आदि जब्त किए हैं।
एएसपी रामेश्वर सिंह ने बताया पुलिस को गढ़पहरा क्षेत्र में लोगों से मारपीट व डरा-धमकाकर लूटने की सूचनाएं मिल रही थीं। इस पर एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ल ने टीम बनाकर क्षेत्र में पेट्रोलिंग दस्ता तैनात किया था। रविवार रात पुलिस को चोरी व अन्य वारदातों में लिप्त शातिर बदमाशों के गढ़पहरा के पास एक खंडर में लूट-डकैती की साजिश रचने की खबर मिली थी। इस पर सीएसपी आरडी भारद्वाज के निर्देशन में कैंट, कोतवाली व गोपालगंज थानों की संयुक्त टीम को भेजा गया। टीम ने रात में खंडहर की घेरा बंदी कर वहां हथियारों से लैस मिलन उर्फ मचे रजक सूबेदार वार्ड, संतोष विश्वकर्मा और नीरज कोरी काकागंज, जीशान खान शनीचरी, सीताराम पटेल तिली, अमन मिर्जा परकोटा, आकाश उर्फ अक्कू सेन पुरव्याऊ टौरी को दबोच लिया।
पुलिस ने आरोपियों को थाने लाकर पूछताछ की। अलग-अलग क्षेत्र में वारदातों को अंजाम देने वाले ये बदमाश एक साथ गिरोह बनाकर बड़ी वारदात की तैयारी कर रहे थे।
पुलिस के अनुसार पांचों बदमाशों
का पहले से आपराधिक रिकॉर्ड है। सूबेदार वार्ड के मिलन उर्फ मचे रजक के खिलाफ पिछले साल सोमनाथपुरम् में दो साल की मासूम से दुष्कर्म सहित मोतीनगर थाने में चार अपराध दर्ज हैं। वह तब १८ वर्ष से कुछ कम आयु का था, इसलिए कानून के शिकंजे से बच निकला था।
वहीं काकागंज के नीरज कोरी पर अवैध शराब की धरपकड़ के दौरान कोतवाली थाने में तैनात रहे आरक्षक भोला यादव पर कटर से जानलेवा हमले करने सहित पांच मामले, तिली के सीताराम पटेल पर गोपालगंज थाने में ६, पुरव्याऊ टौरी में रहने वाले आकाश उर्फ अक्कू सेन पर कोतवाली में एक जबकि शनीचरी के जीशान खान पर गोपालगंज थाने में २ केस दर्ज है। पुलिस लूट, चोरी, दुष्कर्म व अन्य मामलों में आरोपी रह चुके बदमाशों का आपराधिक रिकार्ड खंगाल रही है।
कार्रवाई में कैंट टीआई नीलेश दोहरे, गोपालगंज टीआई अभिषेक वर्मा और कोतवाली एसआई
गौरव राजौरिया, कैंट एसआई वर्षा धाकड़ के अलावा आरक्षक माधव ङ्क्षसह, अभिषेक पटेल, आशीष, मुकेश, दीपक, श्याम, आशीष, प्रहलाद, तंजीम, विष्णु, दुर्मिल गौतम, दुर्गेश सोनी की भूमिका महत्वपूर्ण रही। जिन्हें पुरस्कृत करने एएसपी से आइजी-एसपी से अनुशंसा की है।

sunil lakhera
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned