scriptगुुरु के बाद अब 7 जुलाई को उदय हो रहे हैं शुक्र ग्रह, बाजार में क्यों बढ़ेगी रौनक, पढ़ें | Patrika News
सागर

गुुरु के बाद अब 7 जुलाई को उदय हो रहे हैं शुक्र ग्रह, बाजार में क्यों बढ़ेगी रौनक, पढ़ें

7 जुलाई को शुक्र ग्रह उदय

सागरJun 28, 2024 / 07:07 pm

नितिन सदाफल

7 जुलाई को शुक्र ग्रह उदय

7 जुलाई को शुक्र ग्रह उदय

जुलाई में शहर में होंगी 500 से अधिक शादियों

सागर. जून को गुरु ग्रह उदय हो चुके हैं और 7 जुलाई को शुक्र ग्रह के उदय होने के बाद शादियां शुरू हो जाएंगी। शादियों की तैयारी के लिए बाजार में भी रौनक बढ़ गई है। सराफा, कपड़ा सहित अन्य बाजारों में लोग खरीदी करने पहुंच रहे हैं। जुलाई में 500 से अधिक शादियां होंगी। शादी के मुहूर्त 9 जुलाई से शुरू होंगे और 17 जुलाई देवशयनी एकादशी से चौमास शुरू होने के कारण बंद हो जाएंगे। इसके बाद नवंबर के दूसरे सप्ताह से समारोह हो सकेंगे। सनातन रीति में शादी के मुहूर्त में गुरु और शुक्र अस्त होने का भी विचार किया जाता है। ऐसे में शादी के मुहूर्त में दोनों ग्रहों का उदय होना जरूरी है।
इस बार जुलाई में 8 दिन शहनाई बजेगी। इनमें 9, 10, 11, 12, 13, 14, 15 और 16 जुलाई को शादियों के शुभ मुहूर्त हैं।17 जुलाई को चातुर्मास शुरू हो जाने से अगले चार माह तक विवाह नहीं हो पाएंगे। इसके बाद 12 नवंबर को देवउठनी एकादशी के बाद विवाह के मुहूर्त मिलेंगे। गुरु और शुक्र ग्रह के उदय होते ही विवाह, गृह प्रवेश, मुंडन, जनेऊ संस्कार आदि शुभ व मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। इस बार 9 से 16 जुलाई तक विवाह के लग्न और शुभ कार्य के लिए अच्छे दिन हैं।
17 जुलाई को देवशयनी एकादशी

17 जुलाई को देवशयनी एकादशी है, इस दिन भगवान विष्णु चार मास के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं, जिससे चातुर्मास का प्रारंभ हो जाता है। चातुर्मास के लगते हैं फिर से शुभ व मांगलिक कार्यक्रमों पर चार माह के लिए विराम लग जाएगा। इसके बाद 12 नवंबर को कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की देवउठनी एकादशी से विवाह मुहूर्त फिर से शुरू हो जाएंगे और 14 दिसंबर तक चलेंगे।
गुरु और शुक्र ग्रह उदय

पं. केशव महाराज ने बताया कि जब कोई भी ग्रह सूर्य के पास आ जाता है, तब उसकी शक्तियां कम हो जाती हैं और चमक फीकी पड़ जाती है। ग्रह की इस अवस्था को अस्त होना कहते हैं। जब ग्रह सूर्य से दूर जाता है, तब उस ग्रह की शक्तियां वापस आ जाती है और वह आकाश में दिखाई देने लगता है, ग्रह इस अवस्था को उदय होना कहते हैं। गुरु ग्रह 3 जून को पूर्व दिशा में उदय हो चुके हैं और शुक्र ग्रह 7 जुलाई को पश्चिम दिशा में उदय होंगे।
विवाह मुहूर्त

जुलाई – 9, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16

नवंबर – 12, 17, 18, 23, 25, 27, 28

दिसंबर – 2, 3, 4, 6, 7, 10, 11, 14

Hindi News/ Sagar / गुुरु के बाद अब 7 जुलाई को उदय हो रहे हैं शुक्र ग्रह, बाजार में क्यों बढ़ेगी रौनक, पढ़ें

ट्रेंडिंग वीडियो