मृतकों के परिजन का आरोप, रुपए मांगते है बिजली कंपनी के कर्मचारी

ट्रांसफॉर्मर रखने का काम केवल बिजली कंपनी के कर्मचारियों का

By: anuj hazari

Published: 20 Oct 2020, 09:53 AM IST

बीना. ट्रांसफॉर्मर लगाने का काम केवल बिजली कंपनी के कर्मचारियों का रहता है और कोई दूसरा व्यक्ति यह कार्य नहीं कर सकता है। यदि फिर भी किसी के लिए स्वयं ही यह काम करना पड़े तो इसके पीछे कोई न कोई कारण जरूर रहता है। कुछ ऐसा ही मामला बारधा गांव का सामने आया है जहां पर किसानों की मौत ट्रांसफॉर्मर रखते समय हुई है, जिसकी जांच पुलिस कर रही है। दरअसल जब भी कोई किसान सिंचाई के लिए किराए से ट्रांसफॉर्मर लेता है तो उसे चालू करने का काम उस एरिया के लाइनमेन का रहता है, लेकिन हमेशा ही यह देखने में आता है कि बिजली कर्मचारी या तो समय से काम नहीं करते हंै या फिर काम करते हैं तो वह इसके एवज में रुपयों की मांग करते हैं। जिसके कारण किसान स्वयं ही इस प्रकार के काम करने पर मजबूर हो जाते हैं और इस स्थिति में वह घटना के शिकार हो जाते हंै। क्योंकि ट्रांसफार्मर चालू करने के लिए लाइन को बंद कराना होता है, जिसके लिए परमिट केवल लाइनमेन के नाम पर ही मिलता है। किसी निजी व्यक्ति को परमिट नहीं दिया जाता है। किसान ट्रांसफॉर्मर लेने के लिए बिजली कंपनी से रसीद कटाकर इसकी राशि भी जमा करते हैं, लेकिन इसके बाद भी बिजली कर्मचारी उनका कनेक्शन नहीं करते हैं। रविवार को गोलू कुर्मी, दीपेश कुर्मी की मौत करंट लगने से हुई थी। घटना के बाद मृतक के दादा मुरलीधर ने आरोप लगाया है कि बिजली कंपनी के कर्मचारी इसके लिए रुपए मांग रहे थे। जिसके कारण किसानों ने ट्रांसफॉर्मर एक प्लेटफॉर्म पर रख रहे थे उसी समय यह घटना हुई और करंट लगने से दो युवकों की जान चली गई। इस संबंध में डीइ नितिन डहरिया के लिए फोन लगाया गया, लेकिन उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

नहीं कराते मेंटेनेंस
नियमानुसार फसल कटने के बाद हर छह माह में बिजली तारों के पास लगी झाडिय़ों और लताओं को साफ किया जाता है ताकि वह तार के संपर्क में न आए जिनसे अक्सर घटनाएं होती हैं। बिजली कंपनी मेंटेनेंस के नाम पर कई बार बिजली कटौती तो कर लेती है, लेकिन झाडिय़ों को काटा नहीं जाता है। जिसके कारण घटनाएं होती हंै।

जांच के बाद दोषी पर की जाएगी कार्रवाई
करंट लगने के मामले में जांच की जा रही है, इसमें किसकी गलती से यह घटना हुई है इसकी जांच कर रहे हंै। मामले में जिसकी गलती सामने आएगी उसपर कार्रवाई की जाएगी।

कमल निगवाल, थानाप्रभारी

anuj hazari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned