सागर. स्व. वरनजीत सिंह नैय्यर सिद्क स्मृति फुटबाल ट्राफी के तहत बुधवार को अमरावती और टाइटन क्लब के बीच फाइनल मैच खेला गया। इसमें अमरावती ने फाइनल जीतकर खिताब अपने नाम कर लिय है। पहले हाफ से ही दोनो टीमों में कश म कश भरा खेल खेला गया। खेल के 15 वें मिनट में अमरावती के खिलाड़ी सिद्धार्थ ने शानदार गोल कर 1-0 की बढ़त दिला दी। एक गोल खाने के बाद टाइटन क्लब के खिलाड़ी रफ खेल खेलने लगे। पहले हाफ के 20 वें मिनट में गौरव को रफ खेलने पर यलो कार्ड दिया गया। पहले हाफ में 1-0 की बढ़त के साथ अमरावती खेल रही थी। खेल के दूसरे हाफ में टाइटन क्लब के खिलाडिय़ों ने अनुशासन हीनता व रफ एंड टफ खेल खेला ,जिससे मैच में कई बार व्यवधान उत्पन्न हुआ। इससे मैच 3 से 4 मिनट रूका रहा। दूसरे हाफ के 27 वें मिनट में टाइटन क्लब के खिलाड़ी नदीम व विशाल को रफ खेलने पर यलो कार्ड दिया गया। टाइटन क्लब ने 2 यलो कार्ड वाले खिलाडिय़ों को जान बूझकर मैच में खिलाना चाहते थे, लेकिन आयोजन समिती व निर्णायक ने नियम के विरूद्ध बताते हुए मैदान से बाहर किया।अंतिम समय तक अमरावती ने वरनजीत सिंह ट्राफ्री को 1-0 से अपने कब्जे में कर लिया। समापन समारोह के मुख्य अतिथि आइजी सतीश सक्सेना थे। विशेष अतिथि के रूप में जिला अधिकारी राजेन्द्र कोष्ठा, जितेन्द्र सिंह चावला, देवेन्द्र पाल सिंह चांवला, नरेंद्र पाल सिंह दुग्गल, हरचरण सिंह नैय्यर थे। उप विजेता को रनिंग कप 11 हजार नकद राशि व विजेता टीम को रनिंग कप 21 हजार रुपए की नकद राशि प्रदान की गई। बेस्ट खिलाड़ी अमरावती के प्रतिश को दिया गया। बेस्ट गोल कीपर अमरावती के साहिल, बेस्ट डिफेंडर अमरवती के खिलाड़ी पवन को दिया गया। अब्दुल समद ट्राफी के संचालक इस्लाम मकरानी ने अमरावती के बेस्ट गोल कीपर, बेस्ट डिफेंडर एवं बेस्ट खिलाड़ी को पुरस्कार प्रदान किए।

[MORE_ADVERTISE1][MORE_ADVERTISE2]
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned