आंगनबाड़ी भवन बनाया नहीं, ग्रामीण आवासों का है ये हाल

उमरिया सेमरा पंचायत का मामला

By: manish Dubesy

Published: 25 Apr 2018, 03:44 PM IST

राहतगढ़. उमरिया सेमरा पंचायत निवासी शिकायतकर्ता भैरों प्रसाद आठिया ने ग्रामीणों के साथ ग्राम पंचायत की 9 मांगों को लेकर एसडीएम को ज्ञापन दिया है, जिसमें पंचायत पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए हैं। ज्ञापन में बताया कि आंगनबाड़ी भवन के निर्माण के लिए फर्जी तरीके से राशि निकाली गई। 6 माह बीत जाने के बाद भी एक र्इंट भी नहीं रखी गई। शिकायत की गई तो सरपंच ने जो राशि निकाली थी उसे पुन: बैंक में जमा करा दी। सीएम हेल्पलाइन में भवन बनने की झूठी जानकारी दी गई। सादिक कुरैशी ने आरोप लगाया कि रोजगार सहायक द्वारा शौचालय के भुगतान के बदले 2000 रुपए मांगे गए थे। इसकी शिकायत सत्येंद्र जैन पंचायत खंड अधिकारी से की थी, लेकिन कार्रवाई नहीं की गई। पंचायत में 15 अगस्त को ग्राम सभा भी नहीं हुई थी। पंचायत इंस्पेक्टर 25 वर्षों से पदस्थ हैं, इन्ही के संरक्षण में पंचायत में अनियमितताएं हो रही हैं। इन्हीं सब कारणों से ग्रामीण जनपद पंचायत के सामने अनशन पर बैठ चुके हैं। इन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया गया था।
सीईओ को पत्र लिखा है
ग्राम उमरिया सेमरा के ग्रामीण 9 विषयों को लेकर जनपद पंचायत के सामने अनशन पर बैठे थे। आवेदन के माध्यम से मुझे जानकारी मिली है। इस संबंध में जिला पंचायत सीईओ को पत्र लिखा है।
पवन बारिया, एसडीएम
अभी जांच चल रही है
ग्राम पंचायत उमरिया सेमरा की जांच अभी चल रही है। जल्द ही जांच पूरी होते ही नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
चन्द्रशेखर शुक्ला, सीईओ, जिला पंचायत

गरीबी रेखा में नाम दर्ज कराने भटक रहा मजदूर
देवरीकलां. ग्राम छिंदली निवासी बाबूलाल पिता हलकई चढ़ार (४०) निवासी छिंदली का पात्रता होने के बाद भी विगत वर्ष गरीबी रेखा के राशन कार्ड से नाम अलग कर दिया है, जबकि वह मजदूरी कर अपने परिवार का भरण कर रहा है। वह दोबारा नाम जुड़वाने के लिए अनुविभागीय एवं तहसील कार्यालय देवरी में कई बार आवेदन दे चुका है। परंतु अभी तक अफसरों ने सुनवाई नहीं की है। बाबूलाल ने बताया कि पत्नी का स्वास्थ्य खराब रहने के कारण परिवार चलाने में परेशानियां हो रहीं हैं। गरीबी रेखा का राशन कार्ड न होने के कारण शासकीय योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। तहसीलदार सीएम वर्मा ने बताया कि जिन लोगों के नाम गरीबी रेखा से काटे गए थे, यदि वह पात्र हैं तो नाम जोड़े जा रहे हैं। अगर नाम नहीं जुड़ पा रहा है तो उनकी राशन पर्ची बंद नहीं की जाएंगी।

manish Dubesy Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned