गढ़पहरा पहाड़ी पर फिर आसामाजिक तत्वों का डेरा, युवक-युवतियों के साथ हो रही छेड़छाड़-मारपीट

सुनसान पहाड़ी पर बदमाश दे चुके हैं लूट- बलात्कार की वारदातों को अंजाम

By: संजय शर्मा

Published: 18 Feb 2020, 08:15 AM IST

सागर. गढ़पहरा पहाड़ी पर फिर एक बार बदमाशों का जमावड़ा शुरू हो गया है। अंचल भर के बदमाश सनुसान पहाड़ी पर डेरा जमाए रहते हैं। शराब-गांजे के नशे में धुत बदमाशों की गैंग शीश महल, अनगढ़ देवी मंदिर आने-जाने वाले युवक- युवतियों को अकेला देखकर शिकार बनाती है। शातिर बदमाश लोगों से रुपए, जेवर लूटकर मारपीट करते हैं और लड़कियों के साथ दुव्र्यवहार, अशोभनीय हरकतें की जाती हैं। पूर्व में बदमाशों द्वारा छात्राओं, युवतियों और महिलाओं बलात्कार की वारदातों को भी अंजाम दिया जा चुका हैं। वारदातों के चलते गढ़पहरा पहाड़ी पर पुलिस द्वारा कुछ समय तक गश्त भी की गई लेकिन अब यह बंद हो गया है। आवारा- बदमाश सुबह से ही पहाड़ी पर पहुंच जाते हैं और बेखौफ होकर वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं।

गढ़पहरा कैंट थाना क्षेत्र में आता है यह धार्मिक और पुरातात्विक महत्व का स्थान है। पहाड़ी पर बने पुराने किले, शीश महल और पहाड़ी पर स्थित मंदिरों की वजह से अकसर लोग यहां आते-जाते हैं। इस स्थान पर युवक-युवतियों का भी आना- जाना लगा रहता है। आवारा बदमाश भी अकेले युवक-युवतियों को ही निशाना बनाते हैं। जैसे ही लड़के- लड़कियां मंदिर से होते हुए किले या शीश महल में पहुंचते हैं बदमाश पीछा करते हुए उन्हें घेर लेते हैं। बदमाशों के साथी लोगों से रुपए, जेवर लूटने के लिए उनके साथ मारपीट भी करते हैं। वहीं लड़कियों-महिलाओं के साथ अशालीन हरकतें कर उन्हें प्रताडि़त करते हैं।

बलात्कार की वारदातों को दे चुके अंजाम -

गढ़पहरा पहाड़ी पर बदमाश शराब-गांजे के नशे में धुत रहते हैं। वे लोगों से लूट और लड़कियों के साथ गलत हरकतें करने से नहीं चूकते। पिछले दो वर्ष में गढ़पहरा पहाड़ी पर दर्जन भर लोगों से लूट और बलात्कार के तीन मामले कैंट थाने में दर्ज कराए गए हैं। पुलिस इन वारदातों में क्षेत्र के ही कई बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। एक केस में तो आरोपियों को सजा भी सुनाई जा चुकी है।

संजय शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned