बिजली गुल होते ही अस्पताल में छा जाता अंधेरा, जनरेटर नहीं किया जाता चालू

प्रबंधन द्वारा नहीं दिया जा रहा ध्यान

By: sachendra tiwari

Published: 16 Sep 2020, 09:30 AM IST

बीना. सिविल अस्पताल में कुछ दिनों पहले नया जनरेटर आ गया है, लेकिन अभी तक उसे चालू नहीं किया गया है। अब स्थिति यह है कि बिजली गुल होने पर सभी वार्डों सहित पूरे परिसर में अंधेरा जाता है और टॉर्च के सहारे मरीजों का इलाज करना पड़ता है।
रविवार की रात एक एक्सीडेंट हुआ था और घायलों को अस्पताल लाया गया था, जहां इलाज के दौरान ही बिजली गुल हो गई थी। इसके बाद मोबाइल की लाइट से इलाज करना पड़ा। इसी प्रकार कुछ दिन पूर्व आंधी, पानी से बिजली के तार टूट जाने से कई घंटे बिजली गुल रही थी, लेकिन जनरेटर चालू नहीं हो पाया था। यहां लगे इंवर्टर भी बंद पड़े हुए हैं। सिविल अस्पताल में एक बार प्रसव भी बिजली गुल होने पर टॉर्च की रोशनी में कराया गया था और अब जनरेटर आने के बाद उसे चालू नहीं किया गया है।
हो चुके हैं कनेक्शन
बीओआरएल द्वारा यह जनरेटर दिया गया है और कनेक्शन भी कर दिए गए हैं, लेकिन बिजली गुल होने पर इसे चालू नहीं किया जाता है। इसमें कर्मचारियों द्वारा भी लापरवाही बरती जाती है।
चालू करने की नहीं है जानकारी
जनरेटर लग चुका है और कनेक्शन भी हो चुके हैं, लेकिन किसी को उसे चालू करने की जानकारी नहीं है। बीओआरएल को सूचना देकर वहां से तकनीशियन बुलाकर कर्मचारियों को इसे चालू, बंद करने की जानकारी दिलाई जाएगी।
डॉ. संजीव अग्रवाल, बीएमओ

sachendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned