इस वर्ष हो सकती है औसत बारिश, 182 एमएम रह गई शेष

इस वर्ष हो सकती है औसत बारिश, 182 एमएम रह गई शेष
Average rainfall may occur this year

sachendra tiwari | Updated: 22 Aug 2019, 09:45:00 AM (IST) Sagar, Sagar, Madhya Pradesh, India

पांच वर्षों से नहीं हुई है औसत बारिश

बीना. पिछले पांच वर्षों से क्षेत्र में औसत बारिश नहीं हुई है, जिससे समय से पहले ही जलस्रोतों का जलस्तर कम हो जाता है, लेकिन इस वर्ष औसत बारिश होने की उम्मीद बढ़ गई है।
पिछले पांच वर्षों के आंकड़े देखे तो उसमें बारिश ने 1 हजार एमएम का आंकड़ा भी नहीं छुआ है, लेकिन इस वर्ष 21 अगस्त तक बारिश 1018 एमएम हो चुकी है और औसत बारिश 1200 एमएम है। औसत बारिश होने के लिए 182 एमएम बारिश होना शेष रह गई है। अभी बारिश का दौर जारी है और सितंबर तक बारिश होती है, जिससे औसत बारिश होने की पूरी उम्मीद है। औसत बारिश होने पर जलस्रोतों का जलस्तर लंबे समय तक अच्छा रहेगा। गौरतलब है कि बारिश कम होने के कारण पिछले वर्षों में समय से पहले ही जलस्रोत सूख गए थे और गर्मी में भीषण संकट गहरा जाता है।
पांच वर्षों का यह रहा बारिश का आंकाड़ा
वर्ष 2014 में 785.20 एमएम, 2015 में 655.80 एमएम, 2016 में 989.80 एमएम, 2017 में 852.40 एमएम, 2018 में 805 एमएम बारिश दर्ज की गई है जो औसत से कम है।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned