रसोई गैस के दाम बढऩे से उज्जवला गैस सिलेंडर नहीं भरवा पा रहे हितग्राही

धुआं मुक्त रसोई योजना फेल, चूल्हे पर ही खाना पकाना मजबूरी

By: anuj hazari

Updated: 06 Mar 2021, 08:23 PM IST

बीना. रसोई गैस सिलेंडर के दाम एक माह में 721 से 846 तक पहुंच गए हैं, जिसके कारण उज्जवला योजना के पात्र हितग्राहियों गैस रिफिल कराना बंद कर दिया है। योजना के तहत गरीब महिलाओं को केन्द्र सरकार की ओर से नि:शुल्क गैस कनेक्शन तो बांट दिए गए, जिससे उनको चूल्हे के धुएं से निजात मिल सके, लेकिन एक बार सिलेंडर मुफ्त मिलने के बाद अब सिलेंडर के दाम बेतहाशा बढ़ जाने से गैस रिफिल लेना बंद कर दिया है। स्थिति यह है कि अब रुपए बचाने के लिए महिलाएं फिर से चूल्हे पर ही खाना पकाने लगी हैं, इससे उनको फिर से वही धुआं और गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। यही वजह है कि अब उज्जवला योजना के सिलेंडर केवल शोपीस बन गए हैं। इससे केन्द्र सरकार की रसोई का धुआं बंद की योजना अब फेल होती नजर आ रही है।
इस तरह बढ़े गैस सिलेंडर के दाम
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल में हुई बढ़ोत्तरी का असर पिछले एक माह में पेट्रोल-डीजल के साथ गैस सिलेंडर पर भी पड़ा है। २६ जनवरी के बाद से अभी तक गैस के दाम में सौ रुपए से ज्यादा की बढ़ोत्तरी हुई है। जिसमें 721 रुपए से बढ़कर महीने भर में दाम 746, 796, 821 उसके बाद सीधे 846 रुपए का सिलेंडर रिफिल किया जाने लगा है। जबकि गैस सब्सिडी महज 6 रुपए ही आ रही है।
लॉकडाउन में भरवाए थे सिलेंडर
लॉकडाउन में तीन उज्जवला योजना के तहत कुछ सिलेंडर नि:शुल्क रिफिल कराए गए थे और उस समय हितग्राही सिलेंडर लेने पहुंचे थे। इसके बाद लगातार दामों में इजाफ होता जा रहा है।

anuj hazari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned