यहां घूम रही हैं शैतानी आत्माएं, जानकर पुलिस गायब, देखें वीडियो

यहां घूम रही हैं शैतानी आत्माएं, जानकर पुलिस गायब, देखें वीडियो

Govind Prasad Agnihotri | Updated: 06 May 2018, 12:23:56 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

यहां घूम रही हैं शैतानी आत्माएं, जानकर पुलिस गायब, देखें वीडियो

बीडी दुबे सागर. चोर-बदमाशों के पीछे भागने वाली पुलिस...। वह पुलिस जिसके डंडे पड़ें तो बदमाशों की हेकड़ी उतर जाती है। अच्छे-अच्छों की हवा खिसक जाती है। यहां मामला जरा उल्टा है। खुद पुलिस की हवा खिसक रही है। जी हां, यह हो रहा है मध्य प्रदेश के सागर जिले में। देखिये यह रिपोर्ट...

 

bhoot

 

यह सुनसान जगह है सुरखी थाने के पुलिस क्वार्टरों की। तपती दुपहरी मेें यहां इंसान तो क्या परिंदे भी छांव तलाशने में डरते हैं। यह वीरान जगह लोगों को डराती है। जी हां, यह नजारा है सुरखी थाना के उन पुलिस क्वार्टरों का, जो अब खंडहर में तब्दील हो चुके हैं। वर्ष 2003-04 में बने इन पुलिस क्वार्टरों में अब भूतों का डेरा है। यह कहना है सुरखी के स्थानीय लोगों का। इन पुलिस क्वार्टरों में शैतानी आत्माएं भटकती हैं।

 

हालात यह हैं कि जब से पुलिस क्वार्टर बने हैं तभी से पुलिसकर्मी यहां नहीं रह रही। कथित रूप से खौफ खाकर यहां आना नहीं आना चाहते। आप देखकर हैरान होंगे कि खुद यहां के थाना प्रभारी रेस्ट हाउस में अपना रहने का ठिकाना बनाए हुए हैं।

bhoot

 

वर्तमान में सुरखी थाने का पुलिस स्टाफ पुराने जर्जर मकानों में रह रहा है। इन मकानों की तस्वीर देखकर ऐसा लगता है कि यह मानो 2018 की पहली बारिश भी नहीं झेल पाएंगे। कुछ स्थानीय लोगों का दावा है कि इन खंडहरों में आग का पलीता निकलता है। डरावनी आवाजें आती हैं।

bhoot

 

वहीं कुछ स्थानीय कहते हैं कि यहां रूह नहीं बल्कि चोरों का डेरा है, जो इन क्वार्टरों के दरवाजे, खिड़कियां, कांच और मार्बल तक उखाड़ ले गए स्थानीय लोगों की मानें तो पुलिस महकमे ने सरकार को लाखों का चूना लगाकर इन क्वार्टरों को खंडहर बना दिया। तत्कालीन पुलिस अधिकारियों और पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

 

 

जिले के पुलिस कप्तान सतेंद्र शुक्ला ने इस मामले में कहा है- मुझे जानकारी के हिसाब से मालूमात है कि यह खंडहर हो चुके क्वार्टर थाने और कस्बे से दूर थे। बुनियादी व्यवस्था यहां नहीं थी। इस वजह से इन क्वार्टरों में कोई पुलिसकर्मी शिफ्ट नहीं हुआ।

bhoot

 

जब पुलिस कप्तान से मीडिया ने सवाल किया कि इन क्वार्टरों को बनाने से पहले सुविधाओं की पड़ताल क्यों नहीं की गई तो उनका कहना था- मैं तात्कालिक समय की जानकारी और परिस्थितियों को नहीं बता सकता। हालांकि उन्होंने भूत-प्रेत जैसी अंधविश्वास की घटनाओं को मानने से इनकार किया है।

 

bhoot

बहरहाल यह क्वार्टर अब खंडहर में तब्दील हो गए हैं। अब सवाल उन तात्कालिक अफसरों और निर्माण एजेंसी से है, जिन्होंने बुनियादी सुविधाओं की पड़ताल किए बिना यहां पुलिस क्वार्टर बनवाकर सरकार को करोड़ों का चूना लगा दिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned