भाजपा ऐसा दल जहां पार्टी को मां के रूप में देखा जाता है, जानिए किस नेता ने कही एेसी बात

भाजपा ऐसा दल जहां पार्टी को मां के रूप में देखा जाता है, जानिए किस नेता ने कही एेसी बात

manish Dubesy | Publish: Sep, 03 2018 05:04:55 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

प्रदेशाध्यक्ष ने जिला व विधानसभा स्तरीय बैठकें लीं

सागर. भाजपा देश का एकमात्र ऐसा दल है जहां पार्टी को हम मां की उपमा देते हैं। जब हम पार्टी को मां के रूप में देखते हैं तो हमारी जिम्मेदारी और समर्पण तय हो जाता है। यह बात धर्मश्री स्थित जिला भाजपा कार्यालय में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा हमसे पहले से काम करने वाली कांग्रेस है, लेकिन भाजपा के कार्यकर्ताओं की तुलना किसी पार्टी से नहीं की जा सकती है।
उन्होंने कहा कि 25 सितंबर को भोपाल में कार्यकर्ता महाकुंभ होने जा रहा है, जहां राष्ट्रीय नेतृत्व से लेकर प्रदेश नेतृत्व एक साथ होगा। इसलिए इस महाकुंभी में पन्ना प्रभारी से लेकर मतदान प्रभारी तक पहुंचना चाहिए। बैठक में गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की बराबरी विपक्ष के सभी नेता मिलकर भी नहीं कर सकते। जिला स्तरीय बैठक की खास बात यह रही कि मामा (भूपेंद्र सिंह) ने भांजे (राकेश सिंह) से ज्यादा समय तक कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और संगठनात्मक कार्यों पर चर्चा कर भांजे का ज्यादा से ज्यादा संदेश कार्यकर्ताओं तक पहुंचा दिया। दूसरे सत्र में विधानसभावार बैठकों का दौर चला। आठों विधानसभाओं से भोपाल में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में ज्यादा से ज्यादा कार्यकर्ता पहुंचें, यह सुनिश्चित करनी की बात कही गई। बैठक में संभागीय संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी, सांसद लक्ष्मीनारायण यादव, प्रदेश उपाध्यक्ष विधायक प्रदीप लारिया, जिलाध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल, विधायक शैलेन्द्र जैन, महापौर अभय दरे, जिला महामंत्री अनुराग प्यासी, प्रदीप राजौरिया, राजेश सैनी, प्रदीप राजौरिया, सुखदेव मिश्र, जाहर सिंह, विक्रम सोनी, अनिल तिवारी समेत अन्य शामिल रहे।
एसटी-एससी एक्ट के विरोध में सामाजिक संगठन सपाक्स के कार्यकर्ताओं ने जिला भाजपा कार्यालय पहुंचकर प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को काले झंडे दिखाने की कोशिश की।
वे जिला भाजपा कार्यालय परिसर में नारेबाजी करते हुए घुस गए और राकेश सिंह बाहर आएं-बाहर आएं... की नारेबाजी करने लगे। कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन को देख पुलिस तत्काल एक्शन में आई और कार्यकर्ताओं को परिसर के बाहर किया।
इस दौरान कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच बहस भी हुई। हालांकि जब यह प्रदर्शन चल रहा था तब प्रदेश अध्यक्ष कार्यकर्ताओं की बैठक ले रहे थे। बैठक में पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव, सांसद लक्ष्मीनारायण यादव, विधायक शैलेंद्र जैन, प्रदीप लारिया, महापौर अभय दरे समेत अन्य नेता शामिल थे।

Ad Block is Banned