video: मामा सीएम थे तो पहुंच जाते थे खेतों में फसल का निरीक्षण करने, उद्योगपति क्या जानें किसानों का दर्द

sachendra tiwari | Updated: 20 Sep 2019, 11:00:00 PM (IST) Sagar, Sagar, Madhya Pradesh, India

मांगों को लेकर भाजपा ने किया प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन

बीना. लगातार हुई बारिश के कारण खरीफ की फसलें चौपट हो गई हैं और अभी तक सर्वे कार्य शुरू नहीं किया है। सर्वे की मांग सहित अन्य मांगों को लेकर भाजपा ने सर्वोदय चौराहे पर प्रदर्शन किया। इसके बाद विधायक के नेतृत्व में सभी कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए पैदल रैली निकालकर तहसील परिसर पहुंचे और राज्यपाल के नाम एसडीएम केएल मीणा को ज्ञापन सौंपा।
चौराहे पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक महेश राय ने कहा कि बारिश के कारण फसलें बर्बाद हो गई हैं, लेकिन अभी तक न तो सर्वे शुरू हुआ है न ही मुआवजा मिलने की कोई उम्मीद है। प्रदेश के सीएम हैं वह उद्योगपति हैं वह किसानों का दर्द क्या जानेंगे। फसलों की बर्बादी होने के बाद भी वह एक भी खेत की स्थिति देखने नहीं पहुंचे। अब किसानों को मामा याद आने लगे हैं। वह किसानों का दु:ख दर्द समझते थे और ऐसी स्थिति में वह स्वयं खेतों का निरीक्षण करने पहुंच जाते थे। कांग्रेस के राज में किसान कंगाल हो चुके हैं और अन्य क्षेत्रों में भी लोग परेशान हैं। चुनाव के समय पर दो लाख का कर्ज देने की घोषणा की थी, लेकिन हुआ कुछ नहीं है। आज ज्ञापन के माध्यम से सरकार को जगाने का प्रयास किया है। साथ ही समय सीमा तय की गई है कि पटवारी, कृषि विभाग की टीम मिलकर सर्वे करे और किसानों को उचित मुआवजा दिया जाए। यदि ऐसा नहीं होगा तो सड़कों पर आकर आंदोलन करने मजबूर होंगे। भाजपा किसानों के साथ है। संचालन भूपेन्द्र सिंह ने किया। कार्यक्रम को करोड़ी यादव, विजय हुरकट, शिवकुमार सिंह, अमरप्रताप सिंह, मनोज शर्मा, शुभम तिवारी, मनीष पटेल सहित अन्य लोगों ने संबोधित किया। इस अवसर पर घनश्याम साहू, सुनील सिरोठिया, प्रकाश सिंह, रतन सिंह, लोकेन्द्र सिंह, गौरव सिरोठिया, योगेश दीक्षित, गौरी राय, सुरेन्द्र ठाकुर, मनोज अहिरवार, अभिनव सिंह, सौरभ पटैरिया, राहुल समैया, हनुमत सिंह सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।
किसानों को मिले मुआवजा, बोनस राशि मिले जल्द
राज्यपाल के नाम सौंपे गए ज्ञापन में मांग की गई है कि अतिवृष्टि से बर्बाद हुई फसल का शीघ्र टीम बनाकर सर्वे किया जाए और बीना कंपनी को निर्देशित कर फसलों का सर्वे कर बीमा राशि, राहत राशि शीघ्र उपलब्ध कराई जाए। किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर बेचे गए गेहूं का 160 रुपए बोनस शीघ्र दिलाने, पिछले वर्ष की भावांतर राशि दिलाने, पिछले वर्ष खरीदे गए चना, मसूर की बकाया राशि शीघ्र दिलाने, वचन पत्र के अनुसार किसानों का दो लाख रुपए तक का कर्जा माफ करने, फसल बीमा शीघ्र दिलाने, मंडी में किसानों को नकद भुगतान कराने, अधिसूचित सभी फसलों की समर्थन मूल्य पर खरीदी करने, खेती के लिए 12 घंटे बिजीली देने, प्रत्येक पंचायत में गौशाला खोलने का वचन निभाने, किसानों को किसान सम्मान निधि योजना से वंचित न करने, पशुओं को बीमारी से बचाने अभियान चलाने सहित अन्य की मांग की गई हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned