सी विजिल ऐप से आप भी कर सकेंगे गोपनीय शिकायत, लोगों को दी जा रही इस तरह जानकारी

सी विजिल ऐप से आप भी कर सकेंगे गोपनीय शिकायत, लोगों को दी जा रही इस तरह जानकारी

Manish Kumar Dubey | Publish: Oct, 13 2018 04:59:27 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 04:59:28 PM (IST) Sagar, Madhya Pradesh, India

प्रशासन की तैयारी, सुविधा हमारी

जिला पंचायत कार्यालय में विभिन्न दलों का प्रशिक्षण
सागर. भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन 2018 में इस बार सी विजिल ऐप का उपयोग किया जाएगा। इसके माध्यम से आम नागरिक भी आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत कर सकेंगे और शिकायत का निराकरण 100 मिनट में दर्ज होना चाहिए। यह जानकारी शुक्रवार को जिला पंचायत कार्यालय में विधानसभा चुनाव को लेकर आयोजित प्रशिक्षण में जिला पंचायत सीइओ चंद्रशेखर शुक्ला ने दी। उन्होंने बताया कि यह एक एंड्राइड आधारित ऐप है, जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति गोपनीय तरीके से निर्वाचन प्रक्रिया को दूषित करने वाली गतिविधियों, आचार संहिता के उलंघन की सूचना फोटो व वीडियो के साथ बिना अपनी पहचान उजागर किए बिना इस एप के माध्यम से प्रेषित कर सकेगा।
प्रशिक्षण के दौरान व्यय लेखा से संबंधित व्यय लेखा दल, सहायक व्यय प्रेक्षक, जिला व्यय अनुवीक्षण सेल, स्थैतिक निगरानी दल, उडऩ दस्ता, वीडियो अवलोकन दल, वीडियो निगरानी दल, मीडिया प्रमाणन, व्यय अनुवीक्षण समिति, शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष व कॉल सेंटर से संबंधित सभी दलों को चुनाव प्रक्रिया की जानकारी दी गई। संयुक्त संचालक कोष एवं लेखा अधिकारी द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से बताया गया कि उडऩ दस्ते आदर्श आचरण संहिता के उल्लंघन से संबंधित मामलों, शिकायतों की तत्काल जांच करेंगे। यह उडऩ दस्ते असामाजिक तत्वों के द्वारा डराना, धमकाना, धमकी से संबंधित मामलों शिकायतों की जांच करेंगे। मतदाताओं को शराब वितरण, नकद राशि व अन्य सामग्री रिश्वत के रूप में व अस्त्र-शस्त्र देने के संबंध में भी शिकायतों की जांच करेंगे।
निगरानी दल की सहायता भी करेंगे
उडऩ दस्ते निर्वाचन की घोषणा के बाद राजनीतिक दलों, प्रत्याशियों द्वारा किए जाने वाले खर्चों की वीडियोग्राफी, वीडियो निगरानी दल की सहायता करेंगे। सभी प्रमुख रैलियों सार्वजनिक सभाओं बैठकों तथा अन्य प्रमुख खर्चों की वीडियोग्राफी रखेंगे। इस दल के पास जिला स्तरीय निर्वाचन व्यय नियंत्रण कक्ष रिटर्निंग ऑफिसर जिला निर्वाचन अधिकारी सामान्य प्रेक्षक पुलिस प्रेक्षक व्यय प्रेक्षक आदि के फोन नंबर रहेंगे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned