घर पर समय बिताने कैरम और लूडो का सहारा, घर पर परिवार के साथ बिता रहे सुकुन के पल

भारत में २१ दिनों तक लॉक डाउन

सागर. कोरोना के कहर के बीच सरकार द्वारा पूरे भारत में २१ दिनों तक लॉक डाउन किया गया है। इस लॉक डाउन के पहले दिन शहर में लोग घरों में ही दुबके रहे। पत्रिका ने कुछ एेसे ही परिवारों से बात की और उनकी दिनचर्या जानने की कोशिश की है। मकरोनिया स्थित कॉलेज के प्राचार्य राजू टंडन से जब बात की तो उन्होंने बताया कि सारा दिन कॉलेज में व्यतीत होता था। बच्चों के साथ समय कब गुजर जाता था पता नहीं चलता था, लेकिन अभी घर पर रहना थोड़ा मुश्किल हो रहा है। समय पास करने के लिए रूट चार्ट बना लिया है। चूंकि कोरोना वायरस को लेकर २१ दिनों का लॉक डाउन किया गया है। इसलिए टाइम टेबल के अनुसार चलने से ही समय पास होगा। उन्होंने बताया कि घर के काम में हाथ बंटाना, टीवी देखना और लूडो खेलकर समय व्यतीत किया जा रहा है। परिवार के साथ बहुत दिनों बाद पूरे समय समय बिताना सुखद महसूस हो रहा है। शनिचरी निवासी हॉकी संघ के सचिव पेशे से एक फर्नीचर व्यापारी हैं। उनका कहना था कि देश हित में कोरोना से निपटने के लिए शॉप बंद कर रखी है। घर पर टाइम पास करने के लिए तरह तरह के कार्य कर रहा हूं। पत्नी का खाना बनाने में हाथ बंटाने के अलावा बच्चों और पत्नी के साथ कैरम भी खेलता हूं। घर पर रहना मुश्किल है, लेकिन जिंदगी से बढ़कर कुछ नहीं है। २१ दिन के बाद ईश्वर करे सब कुछ ठीक हो जाए और कोरोना जैसी विपदा दूर हो जाए। फोटो ब्रजेश से लें।

आकाश तिवारी Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned