scriptSAGAR NEWS: स्कूलों के आसपास ट्रैफिक पुलिस की कार्रवाई, 50 से ज्यादा वाहनों पर एक्शन | Challan action taken on more than 50 vehicles of school children | Patrika News
सागर

SAGAR NEWS: स्कूलों के आसपास ट्रैफिक पुलिस की कार्रवाई, 50 से ज्यादा वाहनों पर एक्शन

SAGAR NEWS: स्कूलों में बच्चों को लाने ले जाने के लिए अवैध रूप से चल रहे वाहनों को छोड़ यातायात पुलिस ने शुक्रवार को 50 से ज्यादा छात्रों पर चालानी कार्रवाई की।

सागरJul 06, 2024 / 01:44 pm

नितिन सदाफल

छात्रों की बाइक, स्कूटी आदि को जब्त करते हुए ट्रॉले में भरकर थाने में भी रखवाया।

छात्रों की बाइक, स्कूटी आदि को जब्त करते हुए ट्रॉले में भरकर थाने में भी रखवाया।

पुलिस का कहना स्कूल के सामने सड़क किनारे खड़े थे

SAGAR NEWS: स्कूलों में बच्चों को लाने ले जाने के लिए अवैध रूप से चल रहे वाहनों को छोड़ यातायात पुलिस ने शुक्रवार को 50 से ज्यादा छात्रों पर चालानी कार्रवाई की। पुलिस दलबल के साथ कॉन्वेंट स्कूल पहुंची और सड़क किनारे खड़ी गाडि़यों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी। इस दौरान छात्रों की बाइक, स्कूटी आदि को जब्त करते हुए ट्रॉले में भरकर थाने में भी रखवाया। कार्रवाई को लेकर पुलिस का तर्क है कि वाहन सड़क किनारे खड़े थे, जिनसे यातायात प्रभावित हो रहा था, लेकिन पुलिस को शहर की हर सड़क और उसके किनारे खड़े वाहन नजर नहीं आ रहे हैं। इस कार्रवाई को लेकर लोगों में खासी नाराजगी देखने को मिली। कुछ लोगों ने जब आपत्ति दर्ज कराई तो पांच-पांच सौ रुपए के चालान काटे और वाहन को छोड़ दिया गया।
दरअसल बीते दिनों सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल के बच्चों को ले जा रही वैन पलट गई थी। हादसे में छह बच्चे घायल हुए। इसके बाद बुधवार को स्कूल में ऑटो, चैम्पियन, बस एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ यातायात पुलिस ने बैठक की और नियम-कायदों का पाठ पढ़ाया। पुलिस के अनुसार इसी दौरान उन्हें मौखिक शिकायत मिली कि कुछ छात्र अपने वाहनों से आते हैं और उन्हें सड़क किनारे पार्क करते हैं, जिससे यातायात प्रभावित होता है। इस मौखिक शिकायत के बाद पुलिस ने शुक्रवार को कार्रवाई शुरू कर दी।
बड़ी कक्षा के छात्रों का यह है दर्द

पुलिस की कार्रवाई के बाद कुछ छात्रों ने बस संचालक व स्कूल प्रबंधन पर भी आरोप लगाए हैं। उनका कहना था कि 11वीं, 12वीं के बच्चों को स्कूल बस संचालक लेकर नहीं जाते हैं और जब वे अपने वाहनों से पहुंचते हैं तो स्कूल प्रबंधन उन्हें परिसर में वाहन पार्क करने की अनुमति नहीं देता है। इसी के चलते बच्चे स्कूल के बाहर अपने वाहन पार्क करते हैं। छात्रों का कहना था कि कई परिवारों में यह समस्या है कि उनके परिवार में स्कूल लाने ले जाने वाला नहीं हैं, ऐसे में वे स्कूल कैसे आएंगे।
कलेक्टर ने जारी की गाइडलाइन

स्कूल वैन हादसे के बाद जिला प्रशासन भी सख्त हो गया है। कलेक्टर दीपक आर्य ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट कमेटी ऑन रोड सेफ्टी व बाल संरक्षण आयोग द्वारा जारी गाइड लाइन भी जारी कर दी है। जिसमें स्कूल वाहनों के संचालन को लेकर कुल 14 पाॅइंट शामिल किए गए हैं। इसके साथ यह भी स्पष्ट रूप से कहा गया है कि यदि आगे कोई लापरवाही सामने आई तो पूरी जिम्मेदारी स्कूल प्रबंधन की होगी।
नाबालिग बच्चे चला रहे वाहन

सड़क किनारे वाहन खड़े होने से यातायात प्रभावित हो रहा था, वहीं यह भी सामने आया है कि नाबालिग स्कूल छात्र वाहन चला रहे हैं, इनका लाइसेंस भी नहीं है। 50 के करीब वाहनों पर चालानी कार्रवाई की है। आगे से नाबालिगों को वाहन न देने की हिदायत भी दी गई है।
मयंक चौहान, डीएसपी, यातायात

Hindi News/ Sagar / SAGAR NEWS: स्कूलों के आसपास ट्रैफिक पुलिस की कार्रवाई, 50 से ज्यादा वाहनों पर एक्शन

ट्रेंडिंग वीडियो