शहर में नहीं होगी वोल्टेज की समस्या, सबस्टेशन के पावर ट्रांसफार्मर की बढ़ाई झमता

शहर में तेजी से शुरू हुआ आइपीडीएस योजना का काम, सबस्टेशनों की बढ़ाई क्षमता, तो पुरानी व छतिग्रस्त लाइनों को बदलने काम भी चालू।

 

सागर. शहर के लोगों को अब गर्मी और बारिश के सीजन में भी बोल्टेज की समस्या नहीं होगी। यह संभव होगा आइपीडीएस योजना के तहत चल रहे काम के कारण। बीते कुछ दिनों से योजना के तहत चल रहे काम में तेजी आ गई और वर्तमान की स्थिति में करीब 55 प्रतिशत काम पूरा हो गया है। कंपनी ने शहर के विश्वविद्यालय, धर्मश्री, पावर हाउस व करीला सबस्टेशन पर पावर ट्रांसफार्मर की छमता 5 एमवीए (मेगा वोल्ट एम्पियर) से बढ़ाकर 8 एमवीए की कर दी है जबकि तिली मेनपानी सबस्टेशन पर पांच एमवीए का एक अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर स्थापित कर दिया गया है। इन सभी सब स्टेशन पर यह पावर ट्रांसफार्मर का इंस्टालेशन भी पूर्ण हो चुका है।

यह है वर्तमान स्थिति
निर्माण संभाग के सहायक अभियंता अवनीश जारौलिया ने बताया कि अभी तक करीब 55 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है। आइपीडीएस योजना के तहत शहर में 11 डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर की छमता बढ़ाकर 200 से 315 एमवीए करना प्रस्तावित है, इसमें से 6 को अपग्रेड हो चुके हैं, जबकि 100 से 200 एमवीए करने के लिए प्रस्तावित 27 ट्रांसफार्मर में से अब 6 को अपग्रेड किया जा चुका है। इसके अलावा शहर में प्रस्तावित 20 नए ट्रांसफार्मर में से अब तक 18 का इंस्टालेशन पूर्ण हो गया है।

केबलिंग का भी शुरू हुआ काम
शहर में ११केवी की पुरानी व कमजोर हाइटेंशन लाइनों को भी बदलने का काम शुरू हो गया है। अधिकारियों का कहना है कि पुरानी लाइनों में लोड लेने की छमता कम थी, इसलिए पुरानी लाइनों को बदलकर उनकी मोटे तार बिछाकर छमता बढ़ाई जा रही है। इसके अलावा शहर में कई क्षेत्रों में एलटी लाइनों में जहां पर तार डले हुए थे, उनकी लगह पर केबलिंग करना भी शुरू कर दिया गया है। कंपनी का कहना है कि केबलिंग होने से फॉल्ट आदि की समस्याएं तो कम होंगी ही साथ ही बिजली चोरी पर भी लगाम लग सकेगी।

वोल्टेज की समस्या नहीं रहेगी
आइपीडीएस योजना के तहत ट्रांसफार्मर की छमता बढ़ाई गई है, इससे अब वोल्टेज की समस्या नहीं रहेगी। सभी सबस्टेशन के पावर ट्रांसफार्मर को 5 की जगह 8 एमवीए कर दिया गया है। अब डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर और केबलिंग का काम शेष है।
सीएस पटैल, मैंटेनेंस प्रभारी, शहर

मदन गोपाल तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned